इमरान ने कहा चीन से संबंध खराब करने को पश्चिमी देश बना रहे दबाव

0
120

इस्‍लामाबाद । पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि पश्चिमी देश उस पर लगातार चीन या उन्‍हें चुनने के लिए दबाव बना रहे हैं। उन्‍होंने चीन के इंग्लिश न्‍यूज चैनल चाइना ग्‍लोबल टेलीविजन नेटवर्क (सीजीटीएन) से हुई बातचीत के दौरान इसका जिक्र किया है। इमरान खान की इस बातचीत को अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर भी शेयर किया है। इसमें उन्‍होंने कहा है कि इस तरह का दबाव बनाना सही नहीं है। उन्‍होंने ये भी कहा है कि पाकिस्‍तान के लगभग सभी देशों के साथ अच्‍छे रिश्‍ते हैं। चीन को लेकर उन्‍होंने चैनल से हुई बातचीत के दौरान साफ कर दिया है कि चीन से उसके संबंध काफी गहरे हैं और इसमें न तो कभी किसी दबाव से बदलाव हुआ है और न ही आगे होगा। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि वो क्‍यों किसी की तरफदारी करें, जबकि सभी देशों से पाकिस्‍तान के संबंध अच्‍छे हैं।

इस बातचीत में उन्‍होंने कहा कि इस तरह के दबाव से कुछ होने वाला नहीं है। चीन के साथ पाकिस्‍तान के संबंध बादस्‍तूर जारी रहेंगे। इसमें कोई बदलाव नहीं आएगा। बावजूद इसके पश्चिमी देश लगातार इस दिशा में दबाव बनाए हुए हैं कि पाकिस्‍तान चीन से संबंधों को खराब कर उनका साथ दे। ये पूछे जाने पर कि वो दोनों देशों के संबंधों को इस क्षेत्र के लिए कैसे देखते हैं तो उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान का हमेशा से ही चीन से एक विशेष संबंध रहा है। ये संबंध समय के साथ मजबूत हुआ है।

अंतरराष्‍ट्रीय मंच पर दोनों हमेशा हर मोर्चे पर साथ रहे हैं। इस बातचीत के दौरान उन्‍होंने भारत का नाम लिए बिना कहा कि ये ताज्‍जुब की बात है कि इस क्षेत्र में आपसी दुश्‍मनी बहुत ज्‍यादा है जिसके बारे में सभी जानते भी हैं। उन्‍होंने कहा कि चीन को लेकर अमेरिका काफी सतर्क रहता है। दोनों ही देश एक दूसरे को परेशानी खड़ी करने वाला मानते है। इसकी वजह कहीं न कहीं अमेरिका के नेतृत्‍व में बना क्‍वाड समूह है जिसमें भारत भी शामिल है।

इमरान खान ने कहा है कि वो इस बात को नहीं भूलते हैं कि कैसे हर मुश्किल घड़ी में चीन ने देश का साथ दिया है। ये परेशानियां चाहे बाहरी मुल्‍कों की खड़ी की गई हों या फिर आंतरिक हो, हर वक्‍त चीन मजबूती के साथ पाकिस्‍तान के साथ खड़ा रहा है। उन्‍होंने कहा कि अच्‍छे समय में आपके साथ हर कोई होता है, लेकिन बुरे वक्‍त में जो आपके साथ होता है उसको ही याद रखा जाता है। इसलिए ही पाकिस्‍तान के लोगों के दिलों में चीन के लिए सम्‍मान और प्‍यार का भाव है। दोनों देशों की सरकारों के अलावा दोनों देशों के लोगों में भी काफी अच्‍छे ताल्‍लुक हैं।