Turkey Earthquake: भारत लौटी हजारों लोगों को जीवनदान देकर NDRF टीम, ऐसे हुआ स्वागत

0
122

तुर्की में इस माह की शुरुआत में आए खतरनाक भूकंप के झटकों ने वहां सबकुछ तबाह कर दिया था। इस हादसे में हजारों लोगों की मौत हो गई। बहुमंजिला इमारतें ताश के पत्तों की तरह बिखर गई थीं। बहुत से लोग मलबे में दबे थे। भारत ने भी तुर्की के लिए मदद का हाथ बढ़ाया और अपनी एनडीआरएफ की टीम को वहां राहत व बचाव कार्य के लिए भेजा। इसे ऑपरेशन ‘दोस्त’ नाम दिया गया। ऑपरेशन दोस्त के तहत भूकंपग्रस्त तुर्की की राहत और बचाव कार्य में मदद के लिए गई एनडीआरएफ की पहली टीम शुक्रवार को स्वदेश लौटी।

टीम के जांबाज सदस्य और दो खोजी कुत्ते भारत लौट आए हैं। बता दें कि 6 फरवरी को तुर्की में भूकंप आने के 24 घंटे के भीतर भारत ने एनडीआरएफ की टीमें भेजकर तुर्की में ऑपरेशन दोस्त शुरू किया था। तुर्की में भूकंप के बाद पहुंची एनडीआरएफ की आठवीं बटालियन के जवानों ने अपने साहसी कार्यों से हजारों लोगों की जाने बचाईं। करीब 10 दिनों तक सफल तरीके से ऑपरेशन दोस्त चलाकर एनडीआरएफ की एक टीम शुक्रवार को भारत लौट आई है। एनडीआरएफ जवानों का पहला सी-17 ग्लोबमास्टर विमान सुबह 9:00 बजे हिंडन एयरपोर्ट पहुंचा।

भारत लौटे एनडीआरएफ के जवानों का हिंडन एयरफोर्स में हवाई पट्टी पर एनडीआरएफ के आला अधिकारियों ने ऑपरेशन दोस्त को सफल बनाने पर जोरदार स्वागत किया। एनडीआरएफ के जवान हिंडन एयरपोर्ट से वायु सेना के अधिकारियों से मुखातिब होने के बाद गोविंदपुरम स्थित बटालियन के लिए रवाना हो गए।

इसी महीने 6 फरवरी को तुर्की और सीरिया में आए भूकंप ने दोनों देशों में भारी तबाही मचाई। जानकारी के अनुसार इस भूकंप से अबतक 40 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं भूकंप के तुरंत बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करते हुए तुर्की और सीरिया को मदद का भरोसा दिलाया था और इसके तुरंत बाद भारत ने ऑपरेशन दोस्त की शुरूआत की थी।