कोरोना काल में G7 शिखर सम्मेलन जून के अंत तक आयोजित करना साबित होगा बड़ा उदाहरण- ट्रंप

0
251

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को विश्ववास है कि देश में जी-7 शिखर सम्मेलन को जून के अंत तक आयोजित करना कोरोना काल में व्यक्तिगत तौर पर उपस्थिति बहुत बड़ा उदाहरण होगा। व्हाइट हाउस में ट्रंप ने कहा कि देश मार्च के महीने में कोविड-19 के तहत रद किए जी-7 शिखर सम्मेलन को दोबारा से शुरू करना कोरोना काल में सब कुछ सामान्य करने से बड़ा कोई उदाहरण नहीं हो सकता हैा।

क्या है जी7 शिखर सम्मेलन

जी 7 शीर्ष सात विकसित अर्थव्यवस्थाओं का समूह है। इनमें यूएस, यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और कनाडा शामिल हैं। वर्तमान में अमेरिका के पास जी 7 देशों की वार्षिक अध्यक्षता है। कोरोनोवायरस महामारी को देखते हुए वस्तुतः शिखर सम्मेलन आयोजित किए जाने की चर्चा थी। हालांकि, ट्रम्प ने पिछले सप्ताह यह सुझाव दिया था कि यह कैंप डेविड में आयोजित किया जाए।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव कायले मैकनी (Kayleigh McEnany) ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान पत्रकारों से मुखातिब होते हुआ कहा कि कोरोना काल फिर से आर्थिक गतिवधियों को सामान्य बनाने के लिए धीरे-धीरे प्रतिबंध हटाए जा रहे हैं। ऐसे में लोग अपने एहतियात बरते हुए काम पर लौट रहे हैं। तो ऐसे समय में राष्ट्रपति को पूरा भोरसा है कि इस समय में जी7 शिखर सम्मेलन को जून के अंत तक फिर से शुरू करना बड़ा उदाहरण होगा और वह इस सम्मेलन को फिर से शुरू करना चाहते हैं। हालांकि मेकनी ने इस आयोजन की तय तारीख का एलान नहीं किया।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ’ब्रायन का विश्व नेताओं से इस सम्मेलन को फिर से शुरू करने को लेकर बेहतर समर्थन मिल रहा है। उन्होंने कहा कि हम यहां आने वाले विश्व नेताओं की रक्षा करेंगे, जैसे हम व्हाइट हाउस में लोगों की रक्षा करते हैं। इसलिए हम आयोजित करना चाहते हैं। बता दें कि कोरोना प्रकोप के कारण यह सम्मेलन वर्चुएल तीरके से कराए जाने की बातचीत चल रही है।