दोहरे हत्‍याकांड का दोषी ब्रैंडन बर्नार्ड को दिया गया मौत का इंजेक्‍शन, अब अल्‍फ्रेड बुर्जुआ की बारी

0
156

वाशिंगटन। अमेरिका में गुरुवार की रात दोहरे हत्‍याकांड का दोषी ब्रैंडन बर्नार्ड की मौत के घाट उतार दिया गया। बर्नार्ड को इंडियाना के टेरे प्रायद्वीप में मौत का इंजेक्‍शन दिया गया। अमेरिका की संघीय अदालत की इजाजत के बाद संघीय सरकार ने यह कदम उठाया। हालांकि, गुरुवार की रात बर्नार्ड के वकीलों ने इस मौत का विरोध किया था। वकीलों ने 11 घंटों की मोहलत मांगी थी। मौत से पहले अपने अंतिम शब्‍दों में बर्नार्ड ने अपराध के लिए मांफी मांगी थी। गौरतलब है‍ कि अमेरिका में इस सप्‍ताह मौत की सजा काट रहे पांच अन्‍य कैदियों को मृत्‍युदंड दिया जाना है। इसमें 40 वर्षीय बर्नार्ड और 56 वर्षीय अल्‍फ्रेड बुर्जुआ प्रमुख रूप से शामिल हैं। ट्रंप प्रशासन के लिए संघीय अदालत के इस फैसले को अमल में लाना एक बड़ी चुनौती होगी। इसको लेकर अमेरिका में सियासत भी गरमा गई है।

इस बीच अटॉर्नी जनरल बिलियम बर ने कहा है कि अमेर‍िकी न्‍याय विभाग मौजूदा संघीय कानून पर अमल करेगा। उधर, आलोचकों का कहना है कि यह फैसला अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बाइडन के निर्वाचित होने के कुछ हफ्ते पहले आया है। इसलिए अभी इस फैसले को टाल दिया जाना चाहिए। बाइडन ने कहा था कि वह मृत्‍युदंड को समाप्‍त करने की कोशिश करेंगे। इसलिए मृत्‍युदंड के फैसले को अभी टाल दिया जाना चाहिए।

उधर, अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव में सत्‍ता से बेदखल हो चुके डोनाल्‍ड ट्रंप 20 जनवरी से पहले अपने सभी कामकाम को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। इसके चलते इन दिनों व्‍हाइट हाउस में ट्रंप प्रशासन की सक्रियता बढ़ गई है। बता दें कि अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बाइडन 20 जनवरी को अपना पदभार ग्रहण करेंगे। जाहिर है कि अमेरिकी राष्‍ट्रप‍ति डोनाल्‍ड ट्रंप 20 जनवरी को अपना कार्यभार बाइडन को सौंप देंगे। इसके चलते इन दिनों ट्रंप प्रशासन अपने सभी संघीय आदेशों को निपटाने में जुटा है। 20 जनवरी से पहले ट्रंप प्रशासन अपने कई संघीय फैसलों को अमलीजामा पहनाने में जुटा है। उसे हर हाल में 20 जनवरी से पहले इसका निस्‍तारण करना है।