श्रीलंका में वोटिंग के दौरान हिंसा, बंदूकधारियों ने मतदाताओं को ले जा रही बसों में लगाई आग; कोई घायल नहीं

0
166

कोलंबो । श्रीलंका में आज सुबह से राष्ट्रपति चुनावों के लिए वोटिंग जारी है। यहा वोटिंग के दौरान हिंसा का एक मामला सामने आया है। बंदूकधारियों ने शनिवार को उत्तर-पश्चिम श्रीलंका में अल्पसंख्यक मतदाताओं को ले जा रही बसों के एक काफिले पर गोलियां चलाईं। समाचार एजेंसी आइएनएस ने इसकी जानकारी दी है। हालांकि इस हमले में किसी के हताहत होने की तत्काल कोई खबर नहीं है, लेकिन एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि हमलावरों ने सड़क पर टायर जला दिए थे और 100 से अधिक वाहनों के काफिले पर हमला करने के लिए सड़क के किनारे ब्लॉक स्थापित किए थे।

मतदान जारी

श्रीलंका में राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए आज सुबह से मतदान जारी है। श्रीलंका के आठवें राष्ट्रपति का चुनाव करने के लिए शनिवार को मतदान सुबह 7 बजे से जारी है। इन चुनावों में मुख्य रूप से दो पार्टियों, सजीथ प्रेमदासा से सत्तारूढ़ न्यू डेमोक्रेटिक फ्रंट (एनडीएफ) और गोटाबया राजपक्षे से श्रीलंका पोडुजना पेरमुना (एसएलपीपी) के बीच मुकाबला है। 12,845 केंद्रों पर सुबह 7 बजे से मतदान शुरू हुआ, जो शाम 5 बजे खत्म होगा।

मुख्य मुकाबला

श्रीलंका में वोटिंग के लिए 16 मिलियन(1.6 करोड़) लोग पात्र हैं। श्रीलंका में चुनावों की बात करें तो 1982 में यहां रिकॉर्ड 35 उम्मीदवार थे, 1982 में पहले राष्ट्रपति चुनाव के बाद से सबसे अधिक दावेदार थे। 2015 में आखिरी बार चुनाव में 18 उम्मीदवार चुनावी मैदान में थे। राजपक्षे और प्रेमदासा के अलावा, अन्य महत्वपूर्ण उम्मीदवारों में मार्क्सवादी जनत विमुक्ति पेरमुना (जेवीपी) या पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट की अनुरा कुमारा डिसेनानायका और नेशनल पीपुल्स मूवमेंट (एनपीएम) के पूर्व सेनापति महेश सेनानायके हैं जो अगस्त 2019 में सेना में 36 साल की सेवा देने के बाद सेवानिवृत्त हुए थे।

आतंकी हमले के बाद मतदान

अप्रैल में हुए ईस्टर आतंकी हमले के महीनों बाद आज श्रीलंका के लोग लोकतंत्र की आवाज को और मुखर करने के लिए मतदान कर रहे है। वर्तमान में मैत्रिपाला सिरिसेना दोबारा चुनाव न करने का विकल्प चुनने के साथ कई दलों के कुल 35 उम्मीदवार उन्हें बदलने के लिए मैदान में हैं।

अल जज़ीरा ने विश्लेषकों के हवाले से बताया कि मुकाबला दो प्रतियोगियों – सत्तारूढ़ यूनाइटेड नेशनल पार्टीज़ (यूएनपी) के सजीथ प्रेमदासा और विपक्षी श्रीलंका पीपुल्स फ्रंट (एसएलपीपी) की पार्टी से गोपाबाया राजपक्षे से है।