भ्रष्ट लोगों की सूची में अफगनिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी, जानें नंबर वन पर कौन

0
262

साराजेवो (बोस्निया और हर्जेगोविना) अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी को आर्गनाइज्ड क्राइम एंड करप्शन रिपोर्टिंग प्रोजेक्ट (OCCRP) द्वारा साल 2021 के सबसे भ्रष्ट लोगों की लिस्ट में नामित किया गया है। ओसीसीआरपी दुनिया भर के स्वतंत्र मीडिया आउटलेट्स के लिए एक गैर-लाभकारी खोजी समाचार रिपोर्टिंग प्लेटफार्म है।

ओसीसीआरपी की रिपोर्ट के अनुसार, इस सूची में बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्सांद्र लुकाशेंको शीर्ष पर हैं। इनके अलावा इसमें सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद, तुर्की के राष्ट्रपति रेसिप तैयप एर्दोगन और पूर्व आस्ट्रियाई चांसलर सेबेस्टियन कुर्ज शामिल हैं।

OCCRP ने कहा कि अपने लोगों को दुख और मरने के लिए छोड़ देने कि लिए गनी इस उपाधि के हकदार हैं। OCCRP के सह-संस्थापक ड्रू सुलिवन ने कहा कि अशरफ गनी को यह उपाधि उनके भ्रष्टाचार और अयोग्यता के कारण दी गई है।

सुलिवन ने कहा, गनी निश्चित रूप से एक पुरस्कार के भी हकदार हैं। वह अपने भ्रष्टाचार और अपनी घोर अक्षमता दोनों में सांस ले रहे थे। उन्होंने अफगानिस्तान में बुरे हालातों के दौरान अपने लोगों का साथ छोड़ दिया था।

भ्रष्टाचार से जुड़ी एक रिपोर्ट तैयार करने वाले छह पत्रकारों और विद्वानों के एक पैनल ने लुकाशेंको को इस साल के लिए लिस्ट में सबसे ऊपर रखा है। इस पैनल में अरब रिपोर्टर्स फोर इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिज्म (एआरआईजे) के महानिदेशक रावन दमन, विल फिट्जगिब्बन, इंटरनेशनल कंसोर्टियम आफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स (ICIJ) के वरिष्ठ रिपोर्टर बोयान्ग लिम, पुलित्जर सेंटर के एक वरिष्ठ संपादक लुईस शेली, जार्ज मेसन यूनिवर्सिटी में शार स्कूल आफ पालिसी एंड गवर्नमेंट में एक लेखक और संपन्न प्रोफेसर पाल राडू, पुरस्कार विजेता क्रोस-बार्डर इन्वेस्टिगेटिव रिपोर्टर और OCCRP के सह-संस्थापक एवं निदेशक ड्रू सुलिवन भी शामिल हैं।

ओसीसीआरपी की रिपोर्ट के अनुसार, 67 वर्षीय लुकाशेंको 1993 से बेलारूस की सत्ता पर काबिज हैं। वे चुनावों में धांधली, आलोचकों को प्रताड़ित करने से लेकर प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी और उनकी मार-पिटाई जैसी घटनाओं में शामिल हैं।

ओसीसीआरपी की रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि असद ने सीरिया को एक विनाशकारी गृहयुद्ध में झोंका है और सत्ता पर काबिज रहते हुए करोड़ों डालर की चोरी की है। एर्दोगन ने एक भ्रष्ट सरकार की देखरेख की है जिसने राज्य के स्वामित्व वाले बैंकों का उपयोग करके ईरानी तेल के लिए चीनी धन का शोधन किया है। कुर्ज आस्ट्रियन पीपुल्स पार्टी (ओवीपी) के नेता थे, जिन पर नौ अन्य राजनेताओं और समाचार पत्रों के साथ गबन और रिश्वतखोरी का आरोप लगाया गया था।