विश्व फार्मेसी के रूप में भारत..! – विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुख्य वैज्ञानिक सौम्यस्वामीनाथन

0
67

नई दिल्ली : अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञों का कहना है कि भारत पिछले कुछ वर्षों में सार्वजनिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में प्रगति कर रहा है। कहा जाता है कि भारत ने विशेष रूप से पोलियो उन्मूलन और शिशु मृत्यु दर को कम करने में बेहतर प्रदर्शन किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि “विश्व की फार्मेसी” बनना भारत द्वारा पिछले 75 वर्षों में हासिल किए गए सबसे बड़े लक्ष्यों में से एक था। एक राष्ट्रीय समाचार चैनल को दिए साक्षात्कार में सौम्या स्वामीनाथन ने पिछले साढ़े सात दशकों में स्वास्थ्य क्षेत्र में भारत की उपलब्धियों के बारे में बताया।

उन्होंने कहा कि पोलियो उन्मूलन, मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में उल्लेखनीय कमी, विभिन्न टीकाकरण कार्यक्रमों और सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज ने भारत को वैश्विक फार्मेसी हब के रूप में उभरने में योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी का भारत समेत दुनिया भर के सभी देशों की स्वास्थ्य सेवाओं पर व्यापक प्रभाव पड़ा है। सौम्यास्वामीनाथन ने याद किया कि विशेष रूप से भारत में तपेदिक उपचार, गैर-संचारी रोगों और बाल स्वास्थ्य सेवाओं के प्रावधान में गंभीर व्यवधान थे। सौम्या स्वामीनाथन ने सुझाव दिया कि सार्वजनिक स्वास्थ्य पेशेवरों को इस संबंध में अधिक सतर्क रहना चाहिए।

यूनिसेफ की रिपोर्ट है कि बच्चों में कुपोषण देश में बीमारियों के बढ़ने में योगदान दे रहा है। यह पांच साल से कम उम्र के बच्चों की मौत का प्रमुख कारण है। ये हालात कोरोना महामारी से और बढ़ गए थे। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने इस संबंध में सतर्क रहने की चेतावनी दी है। सौम्या स्वामीनाथन ने आने वाले दिनों में आने वाली समस्याओं का अनुमान लगाने और तत्काल सेवाओं पर ध्यान केंद्रित करने का सुझाव दिया। सौम्यस्वामीनाथन की राय है कि अगर ऐसी तैयारी हो तो आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में किसी भी चुनौती से समझौता किए बिना निपटा जा सकता है।

ऐसे समय में जब पूरी दुनिया में कोरोना महामारी फलफूल रही है, भारत ने अंतरराष्ट्रीय जरूरतों को पूरा करने के लिए टीकों का उत्पादन करने की अपनी क्षमता में काफी वृद्धि की है। इसके अलावा यहां प्रमुख दवाएं भी बनाई जाती हैं। भारत दुनिया की सबसे जरूरी दवाओं का निर्यात करता है। सौम्यस्वामीनाथन ने कहा कि भारत ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में नए नवाचारों की शक्ति देखी है।

Venkat ekhabar Reporter,