अमेरिका ने अपने नागरिकों को दी भूटान और श्रीलंका की यात्रा टालने की सलाह

0
278

वाशिंगटन। अमेरिका अपने नागरिकों को भूटान और श्रीलंका की यात्रा टालने की सलाह दे रहा है। कोरोना महामारी को देखते हुए अमेरिका अपने नागरिकों को भूटान की यात्रा को टालने की सलाह दे रहा है, वहीं श्रीलंका में आतंकवाद के कारण नागरिकों से यात्रा पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया जा रहा है।

अमेरिकी विदेश विभाग ने एक बयान में कहा कि कोरोना के कारण भूटान की यात्रा न करें। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने भूटान के लिए यात्रा स्वास्थ्य नोटिस जारी नहीं किया है, जो भूटान में कोविड-19 के अज्ञात स्तर का संकेत देता है। विदेश विभाग ने आगे कहा कि यदि आपने एफडीए द्वारा प्रमाणित टीका लगाया है, तो आपको कोरोना होने का खतरा कम हो सकता है। अंतरराष्ट्रीय यात्रा की योजना बनाने से पहले आपको टीका लगवाना चाहिए।

अमेरिकी विदेश विभाग ने अपने नागरिकों से कोरोना के कारण श्रीलंका की यात्रा पर पुनर्विचार करने का भी आग्रह किया और श्रीलंका में आतंकवाद को लेकर सावधानी बरतने की बात कही। सीडीसी ने कोरोना के कारण श्रीलंका के लिए तीसरे दर्जे का स्वास्थ्य नोटिस जारी किया है, जो श्रीलंका में कोरोना के उच्च स्तर को दर्शाता है।

कोरोना वायरस के नए रूप डेल्टा वैरिएंट से जूझ रहे देशों पर कई देशों ने पहले ही बैन लगाया हुआ है, मगर कोरोना संक्रमण में कमी आने से कुछ देशों ने बैन हटा दिया है। कुछ देश ट्रैवल पॉलिसी तैयार करने में जुट गई हैं। अमेरिका भी अपने नागरिकों को लेकर चिंतित है।

अमेरिका में कोरोना से सबसे अधिक मौतें हुई हैं। अब यहां की स्थिती धीरे-धीरे सामान्य होती नजर आ रही है। अमेरिका में 18.2 करोड़ से अधिक लोगों ने टीके की कम से कम एक खुराक ले ली है। इसमें लगभग 90 प्रतिशत वरिष्ठ नागरिक है और 70 प्रतिशत 27 साल से अधिक आयु के वयस्क शामिल है।