अमेरिकी चुनाव नजदीक आते ही ट्रंप की लातीनी, ब्लैक मतदाताओं को पक्ष में लाने की कोशिश

0
126

अटलांटा। अमेरिकी चुनाव में 40 दिनों से भी कम का समय रह गया है और अब राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी दूसरी नीति की योजना का अनावरण किया, जिसमें उन्होंने ब्लैक और हिस्पैनिक मतदाताओं के पक्ष में काम करने को कहा और अपने डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी को समर्थन न देने के लिए कहा। अटलांटा, जॉर्जिया में ‘ब्लैक वॉयस फॉर ट्रंप’ कार्यक्रम में, ट्रंप ने अपने दूसरे कार्यकाल के अभियान में कहा, वह अश्वेत लोगों के लिए आर्थिक विकास और ऋण के पैसे को आगे बढ़ाएंगे और जूनटींथ को एक संघीय अवकाश के रूप में नामित करेंगे। बता दें कि जूनटींथ को संयुक्त राज्य अमेरिका में गुलामी की समाप्ति की याद को लेकर जाना जाता है। 19 जून, 1865 को अमेरिका में दास प्रथा खत्म हुआ था। मुक्ति दिवस और स्वतंत्रता दिवस के रूप में इस दिन को जाना जाता है।

ट्रंप दो दिवसीय अभियान पर थे, जहां उन्होंने अटलांटा में कहा कि बिडेन (जो बिडेन, डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार हैं।) कभी बाहर नहीं आते हैं और कहा कि 3 नवंबर का चुनाव हारने से और भी बुरा हाल होगा अगर वह किसी ऐसे व्यक्ति से हार जाते हैं जो कभी चुनाव प्रचार नहीं करता। ट्रंप ने पुलिस के हाथों अश्वेत पुरुषों और महिलाओं की हाल की हत्याओं पर भी दुख जताया। ट्रंप ने कहा कि ब्रेटन टेलर, जॉर्ज फ्लॉयड और अहमद एर्बी की संवेदनहीन मौतों के लिए राष्ट्र दुखी है।

ट्रंप ने दावा किया कि बिडेन जैसे डेमोक्रेट अश्वेत मतदाताओं को महत्व नहीं देते। ट्रंप ने कहा, वे अश्वेत अमेरिकियों को नहीं जानता जैसे मैं जानता हूं। उनका नस्लवादी टिप्पणी करने का इतिहास है। बता दें कि अमेरिका में राष्‍ट्रपति चुनाव प्रचार का अंतिम चरण शुरू हो चुका है, लेकिन कोरोना महामारी के कारण यहां प्रचार की गति मंद पड़ गई है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है अमेरिका में दोनों प्रमुख राजनीतिक दलों के उम्‍मीदवारों ने बहुत कम चुनावी रैलियां की हैं। उम्‍मीदवारों ने बहुत सीमित चुनावी दौरा किया है। हालांकि, राष्‍ट्रपति ट्रंप ने अपने प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन के मुका‍बले अधिक चुनावी सभाओं में शामिल हुए हैं। ट्रंप ने बिडेन के मुकाबले अधिक राज्‍यों का दौरा किया है।