चुनौतियों से भरे साउथ अफ्रीका दौरे पर कैसे जीत सकती है टीम इंडिया, वसीम जाफर ने बताया प्लान

0
67

नई दिल्ली। भारत की टेस्ट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर का कहना है कि साउथ अफ्रीका के दौरे पर टीम इंडिया को चुनौती मिलने वाली है, क्योंकि मेजबान टीम के पास अच्छे तेज गेंदबाज हैं। भारतीय टीम को तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में साउथ अफ्रीका का सामना करना है, जिसकी शुरुआत 26 दिसंबर से सेंचुरियन में होने वाली है। इस टेस्ट सीरीज के बाद वनडे सीरीज भी होनी है।

कगिसो रबादा ने भारतीय टीम को साल 2018 के दौरे के दौरान काफी परेशान किया था। इस बार भी रबादा की अगुआई में साउथ अफ्रीका के पास अच्छा तेज गेंदबाजी आक्रमण है, लेकिन मेजबानों को एनरिक नोर्खिया के रूप में बड़ा झटका लगा है, जो चोट के कारण टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए हैं। रबादा ने भारतीय टीम के पिछले दौरे पर 3 मैचों में 15 विकेट चटकाए थे। 3 मैचों की टेस्ट सीरीज मेजबान टीम ने 2-1 से अपने नाम की थी।

पूर्व भारतीय बल्लेबाज वसीम जाफर ने क्रिकेट नेक्स्ट से बात करते हुए कहा, “दक्षिण अफ्रीका के पास एक अच्छा तेज गेंदबाजी आक्रमण है, इसमें कोई संदेह नहीं है। रबादा दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक हैं। उनके पास पर्याप्त गुणवत्ता है। उनकी (साउथ अफ्रीका) तेज गेंदबाजी निश्चित तौर पर भारत को चुनौती देगी, लेकिन उनकी बल्लेबाजी वैसी नहीं रही जैसी पहले थी। बहरहाल, यह भारत के लिए एक चुनौतीपूर्ण दौरा होगा।”

हालांकि, वसीफ जाफर ने ये भी कहा है कि अगर भारतीय बल्लेबाज 400 रन बोर्ड पर लगाते हैं तो फिर अनुभवी गेंदबाजों के लिए काम आसान होगा और टीम मैच भी जीत सकती है। उन्होंने कहा, “भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रण अब काफी अनुभवी है। जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के पास काफी अनुभव है। मैं कहता रहा हूं कि अगर भारत 400 से अधिक का स्कोर बनाता है, तो इस बात की अधिक संभावना है कि वह मैच जीतेगा।”

जाफर ने ये भी कहा है,”बल्लेबाजों के लिए चुनौती स्कोर करने की होती है। 2018 में विराट कोहली एकमात्र बल्लेबाज थे, जिन्होंने साउथ अफ्रीका में रन बनाए थे। हालांकि, अब टीम इंडिया के पास शीर्ष 6 में संतुलन है। रिषभ पंत अगर एक या डेढ़ घंटे बल्लेबाजी करते हैं तो वे मैच पलट सकते हैं।” पंत ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ दो मैचों का नतीजा अफनी तूफानी बल्लेबाजी के दम पर बदलने का काम किया था।