कोहली को अब इन्हें फोन करके अपनी बल्लेबाजी सुधारने को लेकर बात करनी ही चाहिए- गावस्कर

0
136

नई दिल्ली। साल 2021 में विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टेस्ट टीम ने अपना दबदबा पूरी दुनिया में कायम रखा। भारतीय टीम ने इस साल ब्रिसबेन, लार्ड्स, ओवल, सेंचुरियन जैसे मैदानों पर टेस्ट मैच जीतने में सफलता हासिल की। आइसीसी टेस्ट रैंकिंग में भी फिलहाल भारतीय टीम 124 अंक के साथ दुनिया की नंबर एक टीम है। भारतीय गेंदबाजी आक्रमण वर्तमान में दुनिया में बेस्ट अटैक में से एक है और पिछले कुछ सालों में गेंदबाजी के दम पर भारतीय टीम ने कई मैच जीते हैं। कोहली की कप्तानी में भारतीय टेस्ट टीम काफी सफल है, लेकिन बतौर बल्लेबाज विराट अपने 71वें सेंचुरी का इंतजार कर रहे हैं और ये साल भी उन्हें मायूस कर गया है।

साल 2019 से क्रिकेट के किसी भी प्रारूप में शतक लगाने में नाकाम रहे कोहली ने सेंचुरियन टेस्ट मैच की दोनों पारियों में 35 और 18 रन बनाए थे और दोनों ही पारियों में बाहर जाती गेंद को छेड़ते हुए आउट हुए थे। सुनील गावस्कर ने स्टार स्पोर्ट्स पर बात करते हुए कहा कि विराट कोहली को अब सचिन तेंदुलकर को फोन करना चाहिए। गावस्कर ने 2003-04 में भारत के आस्ट्रेलिया दौरे को याद किया जहां मास्टर ब्लास्टर ने सिडनी टेस्ट की पहली पारी में दोहरा शतक लगाया था। सचिन ने दूसरी पारी में भी अर्धशतक बनाया जिससे भारतीय टीम को मैच ड्रा कराने में मदद मिली और सीरीज 1-1 की बराबरी पर समाप्त हुई थी।

गावस्कर ने बताया कि कोहली की तरह से सचिन में भी आफ स्टंप से बाहर जाती गेंदों का पीछा करने की प्रवृत्ति थी जिस पर वो सिडनी में काबू पाने में सफल रहे थे। उन्होंने कहा कि कोहली की बात करें तो यह शानदार होगा अगर वह सचिन तेंदुलकर को नए साल की शुभकामनाएं देने के लिए काल करें और उस बातचीत के दौरान अगर कोहली शायद सचिन से जान सकें कि आस्ट्रेलिया में साल 2003-04 के दौरान उन्होंने अपने आफ साइड शाट्स पर कैसे अंकुश लगाया था। सचिन ने सिडनी की पहली पारी में नाबाद 241 रन जबकि दूसरी पारी में नाबाद 60 रन की पारी खेली थी और बाहर जाती गेंद से छेड़खानी पर काबू पाया था।