सचिन तेंदुलकर ने 5 साल बहाया पसीना तब जाकर इस टीम के खिलाफ मिली थी ये बड़ी कामयाबी

0
404

नई दिल्ली । विश्व क्रिकेट पर 20 साल से ज्यादा राज करने वाले क्रिकेट के ‘भगवान’ कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के लिए आज बेहद खास दिन है। इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतकों का रिकॉर्ड बनाने वाले सचिन को अपने पहले वनडे शतक के लिए 5 साल का इंतजार करना पड़ा था। 1994 में 9 सितंबर के दिन सचिन के बल्ले से पहला वनडे शतक देखने को मिला था। पहला शतक लगाने के बाद सचिन ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और एक ऐसा रिकॉर्ड कायम किया जो आज भी अटूट है।

सचिन ने यूं तो विश्व क्रिकेट में कई रिकॉर्ड बनाए हैं लेकिन उनके बल्ले से वनडे में पहली बड़ी पारी 9 सितंबर को देखने को मिली थी। टेस्ट में शतक जमा चुके मास्टर ब्लास्टर ने आज के दिन ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे में शतकों के शिखर तक पहुंचने की नींव रखी थी। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हुए सचिन ने पहला वनडे शतक बनाया था।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था पहला वनडे शतक

सिंगर वर्ल्ड सीरीज के तीसरे मुकाबले में सचिन ने मनोज प्रभाकर के साथ मिलकर पारी की शुरुआत की थी। वनडे में सचिन को इसी साल पांचवें और चौथे नंबर से शिफ्ट कर ओपनिंग के लिए भेजने का फैसला लिया गया था। बतौर ओपनर 10वीं पारी में ही सचिन ने शानदार शतक जमाया था। प्रभाकर के साथ पहले विकेट के लिए उन्होंने 87 रन जोड़ भारत को अच्छी शुरुआत दिलाई थी।

सचिन ने खेली 110 रन की बेमिसाल पारी

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सचिन ने इस मैच में 130 गेंद का सामना कर 110 रन बनाए थे। इस पारी में उनके बल्ले से 8 चौके और 2 छक्के निकले थे। इस दौरान उन्होंने प्रभाकर, नवजोत सिंह सिद्धू और कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन के साथ अहम साझेदारियां निभाई और भारत को 211 रन तक पहुंचाने के बाद आउट हुए।

सचिन रहे मैच के हीरो

भारत ने इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के सामने 246 रन का स्कोर खड़ा किया था। जवाब में कंगारू टीम 215 रन पर ही ऑलआउट हो गई। सचिन को उनकी शानदार पारी के लिए ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुना गया था।