सचिन तेंदुलकर ने की ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज की तारीफ, बोले- वो मुझे खुद की याद दिलाते हैं

0
124

नई दिल्ली : भारतीय टीम के पूर्व ओपनर और दुनिया के सर्वकालिक महान बल्लेबाजों में शामिल सचिन तेंदुलकर इस समय ऑस्ट्रेलिया में हैं। सचिन तेंदुलकर यहां बुश फायर के रिलीफ फंड के लिए आयोजित हो रहे क्रिकेट बैश में पोंटिंग इलेवन के कोच हैं। इसी बीच सचिन तेंदुलकर ने ऑस्ट्रेलिया के एक मीडिया हाउस से बात की और उन्होंने एक स्टाइलिश ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी की जमकर तारीफ की। इतना ही नहीं, सचिन तेंदुलकर ने भी कहा है कि वो बल्लेबाज मुझे खुद की याद दिलाता है।

भारतीय टीम के आइकोन सचिन तेंदुलकर ने स्टाइलिश कंगारू मिडिल ऑर्डर बैट्समैन मार्नस लाबुशाने की तारीफ की है और कहा है कि ये इनफॉर्म बल्लेबाज मुझे मेरी ही याद दिलाता है। भारत के महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने 51 टेस्ट शतक जड़े हैं और जब वे लाबुशाने की एशेज डेब्यू परफॉर्मेंस को देखते हैं तो उन्हें बहुत अच्छा लगता है। तेंदुलकर से मॉर्डन डे प्लेयर के बारे में यह पूछे जाने पर कौन सा खिलाड़ी उन्हें उन्हीं की याद दिलाता है तो उन्होंने कहा, “मार्नस का फुटवर्क कमाल का है, इसलिए वह वही होगा जो मैं कहूंगा।”

सचिन तेंदुलकर ने कहा, “मैंने कनकशन के तौर पर बल्लेबाजी करने आए मार्नस लाबुशाने को उस समय देखा जब जोफ्रा आर्चर की दूसरी गेंद उनके सिर पर लगी और फिर इसके बाद 15 मिनट उसने बल्लेबाजी की थी मैंने कहा ता कि यह खिलाड़ी विशेष दिखता है, इसमें कुछ तो बात है। उनका फुटवर्क अच्छा है, ये शारीरिक नहीं, बल्कि मानसिक होता है। अगर आप सकारात्म नहीं सोच रहे हैं तो आपके पैर नहीं चल सकते। इसलिए मुझे स्पष्ट रूप से संकेत मिले कि यह लड़का मानसिक रूप से मजबूत है।”

बता दें कि कंगारू टीम के महान बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन ने भी कुछ ऐसी ही बात साल 1992 में सचिन तेंदुलकर के लिए कही थी, जब उन्होंने 18 साल की उम्र में 1992 में सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर नाबाद सेंचुरी जड़ी थी। सिडनी के बारे में बात करते हुए सचिन ने कहा है कि ये मैदान उनके लिए काफी खास है। इसके अलावा उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ को भी सराहा है। बता दें कि सचिन तेंदुलकर की कोचिंग वाली पोंटिंग इलेवन का मैच गिलक्रिस्ट इलेवन से रविरवार को मेलबर्न में है।