पाकिस्तानी बल्लेबाज नासिर जमशेद को हुई 17 महीने की जेल, बीवी ने क्रिकेटरों को दी बड़ी सलाह

0
132

लंदन : पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज नासिर जमशेद (Nasir Jamshed) को महीनों जेल की हवा खानी पड़ेगी। नासिर जमशेद को मैनचेस्टर क्राउन कोर्ट ने 17 महीने जेल की सलाखों के पीछे रहने की सजा सुनाई है। नासिर जमशेद को पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) में साथी क्रिकेटरों को रिश्वत देने की साजिश का दोषी ठहराया है। नासिर पीएसएल में एक तरह से फिक्सिंग कराने चाहते थे।

साल 2018 में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) द्वारा 30 साल के नासिर जमशेद को 10 साल के लिए बैन किया जा चुका है। ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, अपने मुकदमे के पहले ही दिन नासिर जमशेद को अपनी दलील बदलने के बाद हिरासत में लिया जा चुका है।

17 महीने की जेल की सजा मिलने के बाद नासिर जमशेद की पत्नी ने एक बयान जारी किया है। इस बयान में नासिर जमशेद की पत्नी ने कहा है कि यह फैसला क्रिकेटरों को ये बात समझने की अनुमति देगा कि अगर वे भ्रष्टाचार के रास्ते पर जाना चाहते हैं तो उनका क्या होगा।

ईएसपीएन क्रिकइंफो ने नासिर जमशेद की पत्नी समारा अफजल के हवाले से लिखा है, “नासिर का सुनहरा भविष्य होता अगर वो कड़ी मेहनत करते और खेल से जुड़े रहते जिसने बहुत शौहरत नासिर जमशेद को दिलाई, लेकिन उन्होने शॉर्ट कट लिया और सब कुछ खो दिया, अपना करियर, रुतवा, सम्मान और आजादी। नासिर जमशेद को इंग्लैंड की नागरिकता मिल सकती थी और वे काउंटी खेल सकते थे, लेकिन ये मौका भी उन्होंने खो दिया।”

समारा ने आगे कहा, “वह समय को वापस करने के लिए कुछ भी कर सकता है और सब कुछ नहीं खोएगा, खासकर अपनी बेटी जो उनके बहुत करीब है, लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है। मैं उम्मीद करती हूं कि सभी क्रिकेटर इसे उदाहरण की तरह देखें और सोचें कि अगर भ्रष्टाचार या फिक्सिंग की तो क्या परिणाम होगा।

नासिर जमशेद के अलावा दो और पाकिस्तानियों को सजा मिली है। युसफ अनवर और मोहम्मद इजाज ने भी पाकिस्तान सुपर लीग में खिलाड़ियों को पैसे देकर उनसे खराब परफॉर्म कराने का दोषी पाया है। इस मामले में अनवर को 40 महीने और इजाज को 30 महीने की जेल हुई है।

48 वनडे, 2 टेस्ट और 18 टी20 इंटरनेशनल मैच पाकिस्तान के लिए खेलने वाले नासिर जमशेद ने शरजील खान को इस्लामाबाद की टीम के दूसरे ओवर की पहली दो गेंद डॉट खेलने के लिए मना लिया था। शरजील को बाद में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने 5 साल के लिए बैन कर दिया था। खालिद लतीफ को भी जमशेद ने अपने झांसे में लिया था।