सचिन तेंदुलकर से मिली तारीफ पर मार्नस लाबुशेन ने दिया ये रिएक्शन

0
96

मार्नस लाबुशेन ने सचिन तेंदुलकर का उस बयान के लिए अभार व्यक्त किया है, जिसमें पूर्व भारतीय दिग्गज ने कहा था कि ऑस्ट्रेलिया के तेजी से उभरते हुए इस युवा बल्लेबाज में उन्हें अपनी झलक दिखती है। पिछले सप्ताह ऑस्ट्रेलिया में बुशफायर चैरिटी मैच के लिए पहुंचे तेंदुलकर ने लाबुशेन को शानदार करार देते हुए कहा था कि उन्हें इस बल्लेबाज के खेल को देखकर अपने खेल की याद आती है।

तेंदुलकर से मिली इस तारीफ के बारे में पूछे जाने पर लाबुशेन ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, ”यह बहुत अद्भुत है, मेरी नजर जैसे ही उस खबर पर पड़ी मैं पढ़ने के लिए आतुर हो गया। मैं जिसका अनुसरण करता हूं उससे ऐसी प्रशंसा मिलना शानदार है। मैं उनके शब्दों के लिए बहुत आभारी हूं और सच्चाई यह है कि इसे सुनने के बाद मैं स्तब्ध था।”

डेविड वॉर्नर और एलिस पैरी बने ऑस्ट्रेलिया के साल के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर, देखें विनर्स की पूरी लिस्ट
क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू ने एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें लाबुशेन ने कहा, “यह बहुत अद्भुत था। निश्चित रूप से जब मैंने इसे देखा तो इसको पढ़ने की मुझे बहुत जल्दी थी। उनके (सचिन) शब्दों के लिए मैं बहुत आभारी हूं।”

151 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं
तेंदुलकर ने लाबुशेन के फुटवर्क की तारीफ करते हुए कहा कि यह दर्शाता है कि वह मानसिक रूप से मजबूत खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा था, ”इस खिलाड़ी में कुछ विशेष बात है। उसका फुटवर्क बिल्कुल सही है। फुटवर्क शारीरिक तौर पर नहीं, मानसिक तौर पर होता है। अगर आप सकारात्मक नहीं सोचेंगे तो आपका पैर नहीं चलेगा।”

तेंदुलकर ने कहा, ”मैं ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच को देख रहा था। जब स्टीव स्मिथ चोटिल हुए तो मैंने दूसरी पारी में लाबुशेन की बल्लेबाजी देखी।” उन्होंने कहा, ”लाबुशेन को जोफ्रा आर्चर की गेंद पर चोट लगी लेकिन इसके बाद 15 मिनट तक उन्होंने जिस तरह से बल्लेबाजी की मैंने कहा, ”यह खिलाड़ी खास है।”

अपने बचपन के हीरो सचिन तेंदुलकर से मिलीं शेफाली वर्मा, पूरा हुआ सपना
25 साल का यह बल्लेबाज पिछले साल 1104 रन बनाकर टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाला बल्लेबाल रहा। उन्हें स्टीव स्मिथ के चोटिल होने के बाद कनकशन विकल्प (चोटिल खिलाड़ी की जगह) के तौर पर मौका मिला था। उन्होंने हालांकि दमदार खेल से टीम में अपनी जगह पक्की की। एशेज में उन्होंने 50.42 की औसत से 353 रन बनाए।