क्रिकेट में भ्रष्टाचार के दोषी खिलाड़ियों को फांसी की सजा दी जाए- जावेद मियांदाद

0
112

कराची। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज जावेद मियांदाद एक बार फिर से अपने बयान को लेकर चर्चा में आ गए हैं। इस बार उन्होंने ये मांग कर दी है कि वो खिलाड़ी जो क्रिकेट में भ्रष्टाचार में लिप्त रहने के दोषी पाए जाते हैं उन्हें फांसी पर लटका देना चाहिए क्योंकि उनकी इन हरकतों से देश की इज्जत खराब होती है।

जावेद मियांदाद ने अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए कहा कि वो उन खिलाड़ियों के साथ किसी भी तरह की सहानुभूति नहीं रखते हैं जो मैच फिक्सिंग या फिर ऐसे किसी भी काम में लिप्त रहते हैं जिससे टीम और देश का नाम खराब होता है। ऐसे खिलाड़ी जो स्पॉट फिक्सिंग मामले में लिप्त पाए जाते हैं उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। स्पॉट फिक्सिंग के मामले में फांसी की सजा होनी चाहिए क्योंकि ये किसी की हत्या करने के समान ही एक बड़ा अपराध है। किसी की हत्या करने के मामले में फांसी की सजा होती है ऐसे में इसे लिए भी यही सजा होनी चाहिए। अब एक ऐसा उदाहरण सामने आना चाहिए ताकि कोई भी खिलाड़ी ऐसी हरकत करने के लिए सोचने से भी डरे।

दरअसल पाकिस्तान क्रिकेट टीम के सीनियर ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज ने इस बात पर बहस छेड़ दी थी कि जो खिलाड़ी क्रिकेट में करप्शन का दोषी पाया जाता है उसे पाकिस्तान क्रिकेट टीम में फिर से आऩे की इजाजत देनी चाहिए। उनकी इस बात पर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी समेत कई अन्य खिलाड़ी ने भी उनका साथ देते हुए इसे सही बताया था। वहीं पाकिस्तान के लिए 124 टेस्ट मैच खेलने वाले जावेद मियांदाद ने कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ऐसे लोगों को माफ करके सही काम नहीं कर रहा है।

जावेद मियांदाद ने कहा कि पीसीबी ऐसे लोगों को माफ करके सही नहीं कर रहा है। ऐसे खिलाड़ियों को वापस लाने वाले लोगों को खुद पर शर्म आनी चाहिए। उन्होंने यह भी दावा किया कि जो खिलाड़ी अपने साथियों और देश के साथ विश्वासघात करते हैं, उन्हें मानवीय आधार पर भी माफ नहीं किया जाना चाहिए।