लखनऊ सुपर जायंट्स ने केएल राहुल, मार्कस स्टोइनिस और रवि बिश्नोई को क्यों चुना? कप्तान ने खुद बताया

0
46

नई दिल्ली। लखनऊ सुपर जायंट्स के कप्तान केएल राहुल ने बताया है कि आखिर क्यों इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) की नई फ्रेंचाइजी उन्हें आस्ट्रेलियाई आलराउंडर मार्कस स्टोइनिस और अनकैप्ड भारतीय लेग स्पिनर रवि बिश्नोई को क्यों मेगा आक्शन से पहले क्यों चुना? राहुल को रिकार्ड 17 करोड़ रुपये, स्टोइनिस को 9.2 करोड़ रुपये में और बिश्नोई को 4 करोड़ रुपये में लखनऊ ने अपने साथ जोड़ा है।

बैकस्टेज विद बोरिया मजूमदार यूट्यूब शो में राहुल ने बताया कि लखनऊ की टीम 12 और 13 फरवरी को होने वाले दो दिवसीय मेगा आक्शन से पहले तीन स्तंभों को मजबूत करना चाहती थी। उऩ्होंने कहा, ‘ मुझे, स्टोइनिस और बिश्नोई को चुनने के पीछे का विचार बहुत सरल है। ड्राफ्ट पीक से तीन खिलाड़ी चुनते समय तीन स्तंभों को मजबूत करने पर ध्यान था । आपके पास मेरे जैसा एक ओपनर बल्लेबाज और स्टोइनिस के रूप में एक आलराउंडर है, जो 5-6 नंबर पर बल्लेबाजी कर सकता है। हमने देखा है कि बिग बैश में उन्होंने ओपनिंग भी की है। वह बहुत लचीले खिलाड़ी हैं। वह आपको छठा गेंदबाजी विकल्प भी देते हैं।’

स्टोइनिस पिछले दो सीजन के लिए दिल्ली कैपिटल्स के हिस्सा थे। राहुल के साथ 2018 सीजन में पंजाब किंग्स (तब किंग्स इलेवन पंजाब) की टीम में खेले थे। तब भारतीय बल्लेबाज को कप्तान बनाया गया था। दूसरी ओर बिश्नोई पिछले दो सीजन से पंजाब किंग्स टीम का हिस्सा रहे हैं। विश्नोई को लेकर राहुल ने कहा, ‘ हमने आइपीएल के इतिहास में देखा है कि कलाई के स्पिनरों ने वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया है और जो भी इस नीलामी में उपलब्ध होगा वह मंहगा होगा। हमें लगा कि हम सभी को शामिल करने से एक अच्छी टीम मिलेगी।’

खेल के प्रति प्रतिबद्धता के बारे में बात करते समय राहुल ने दोनों खिलाड़ियों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘ मार्कस एक बहुत ही प्रतिबद्ध खिलाड़ी हैं और एक शानदार टीम मैन हैं। एक युवा खिलाड़ी के तौर पर बिश्नोई को बहुत ज्यादा मौका नहीं मिला है। आइपीएल क्रिकेट में उन्होंने काफी साहस दिखाई है। वह पोलार्ड, रसेल, हार्दिक और रिषभ को गेंदबाजी करना चाहता है। वे जब भी मैदान पर आते थे तो कहते थे, ‘भैया मुझे गेंद दो’। मुझे लगता है कि वह जल्द और लंबे समय तक भारत के लिए खेलते हुए दिखेंगे।