कैंसिल होने की कगार पर IPL 2020, अगले साल नहीं होगा मेगा ऑक्शन

0
116

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी की वजह से मई तक के सभी टूर्नामेंट रद हो चुके हैं। ऐसे में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 13वें सीजन को रद करने का फैसला अगले कुछ सप्ताह में कर सकती है। ऐसे में कह सकते हैं कि आइपीएल 2020 रद होने की कगार पर है, जिसका ऐलान बीसीसीआइ जल्द कर सकती है, क्योंकि कोरोना वायरस की वजह से आइपीएल को आयोजित कराने में तमाम अड़चन आ रही हैं।

आइपीएल के सफल 12 सीजन होने के बाद बीसीसीआइ ने 13वें सीजन को 29 मार्च से शुरू करने का फैसला किया था, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से इसे 15 अप्रैल तक के लिए सस्पेंड करना पड़ा, लेकिन मौजूदा हालातों को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि इस साल ये लीग आयोजित ही नहीं होगी। सरकार के नियमों और बाकी देशों की पाबंदियों के बाद कोरोना वायरस की वजह से इस बार आइपीएल को रद करना ही पड़ेगा।

अगर ताजा रिपोर्ट्स पर नज़र डालें तो बीसीसीआइ बस इस बात का इतंजार कर रही है कि वीजा पॉलिसी को लेकर सरकार क्या फैसला सुनाती है। भारत में फिलहाल 21 दिन का लॉकडाउन है जो कि 14 अप्रैल तक प्रभावी है। यही कारण है कि बीसीसीआइ 15 अप्रैल को आइपीएल की फ्रेंचाइजियों से बात करेगी, जिसमें शायद आइपीएल के भविष्य को तय किया जाएगा, लेकिन इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए एक आइपीएल अधिकारी ने साफ किया है कि इस साल आइपीएल होने की संभावना बहुत कम है।

सूत्र ने इस बात की पुष्टि की है कि बीसीसीआइ कोरोना वायरस के चलते सोशल डिस्टेंशिंग की वजह से इस स्थिति में नहीं है कि आइपीएल आयोजित किया जाए। शेड्यूल के अनुसार आइपीएल 2020 के लिए ऑक्शन हो चुका था और अगले साल के आइपीएल से पहले मेगा ऑक्शन होना था, लेकिन मौजूदा हालातों की वजह से अगले साल मेगा ऑक्शन नहीं होगा, जबकि आइपीएल का 13वां सीजन अगले साल आयोजित होगा।

सूत्र ने कहा है, “IPL इस साल नहीं होगा। ये अगले साल आयोजित होगा। हम सभी जानते हैं कि इस सम देश में किस तरह के हालात हैं और कोई भी ऐसे में रिस्क नहीं लेना चाहेगा। स्टेडियम में सोशल डिस्टेंशिंग नहीं होगी। ऐसे में उचित है कि आइपीएल अगले साल खेला जाना चाहिए। इसके अलावा अगले साल मेगा ऑक्शन नहीं होगा। हम सभी फ्रेंचाइजियों को इस बारे में सूचित करेंगे कि हम इसी सीजन को अगले साल करेंगे।”