मो. शमी को नेट पर कोहली या रोहित नहीं कौन बल्लेबाज करता है सबसे ज्यादा परेशान

0
71

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मो. शमी को आधुनिक क्रिकेट की बेहतरीन प्रतिभाओं में से एक माना जाता है। 31 साल का ये गेंदबाज भारत के लिए क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में लगभग नौ साल से देश का प्रतिनिधित्व कर रहा है। शमी ने पिछले 9 साल में भारत के लिए 57 टेस्ट, 71 वनडे और 17 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं।

शमी ने द इंडियन एक्सप्रेस के एक शो आइडिया एक्सचेंज पर गेस्ट के तौर पर पहुंचे और वहां पर अपने क्रिकेट करियर से जुड़ी कई पहलूओं पर बात की। इस बातचीत के दौरान शमी ने टीम इंडिया के उस बल्लेबाज के नाम का खुलासा किया जिसे नेट्स पर वो गेंदबाजी नहीं करना चाहते हैं। उन्होंने ये साफ किया कि बीसीसीआइ उन्हें गेंदबाजी करने के लिए ही पैसे देती है और ये उनका काम है। शमी ने कहा कि मुझे हर किसी को गेंदबाजी करने मे मजा आता है, लेकिन चेतेश्वर पुजारा की तरह आपको कोई परेशान नहीं कर सकता। जैसा कि सभी जानते हैं वो जब तक 100 से 200 गेंद नहीं मारते तब तक उन्हें नींद नहीं आती।

पुजारा को श्रीलंका के खिलाफ आगामी टेस्ट के लिए भारत की टीम में शामिल नहीं किया गया है, लेकिन ज्यादातर लोग लाल गेंद के प्रारूप में गेंदबाजों को निराश करने की उनकी क्षमताओं से वाकिफ हैं। सौराष्ट्र के 34 वर्षीय इस बल्लेबाज ने 95 टेस्ट में भारत का प्रतिनिधित्व किया है, जिसमें उन्होंने 43.88 की औसत से 6713 रन बनाए हैं। उनके नाम तीन दोहरे शतकों के अलावा 18 शतक और 32 अर्धशतक भी हैं।

वहीं शमी ने बुमराह से अपनी मुलाकात के बारे में कहा कि मैंने उन्हें पहली बार आइपीएल के दौरान देखा था। उनके गेंदबाजी एक्शन की वजह से उन्हें देखकर थोड़ा अजीब लगा। मैं हैरान था कि कोई उस एक्शन से इतनी तेज गेंदबाजी कैसे कर सकता है और उसे ताकत कहां से मिलती है। जब उन्हें भारतीय टीम में ड्राफ्ट किया गया, तब मैं उन्हें बेहतर तरीके से जानता था। उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया और टेस्ट टीम का हिस्सा बने। आज आप एक अलग जसप्रीत बुमराह को देखते हैं। उनके पास नियंत्रण है, उनके पास सब कुछ है।