IND vs SA: विजाग टेस्ट में अश्विन ने पंजे से की धमाकेदार वापसी, डेल स्टेन को पछाड़ा

0
217

नई दिल्ली: विशाखापत्तनम में भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच चल रहे टेस्ट मैच में भारत के ऑफ स्पिनर आर अश्विन (R Ashwin) ने शानदार वापसी की. पहली पारी में टीम इंडिया (Team India) की वापसी कराते हुए अश्विन ने पांच विकेट लेने की उपलब्धि हासिल कर ली और एक नए रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया है. इसके साथ ही अश्विन अपने 350 टेस्ट विकेट पूरे करने से केवल तीन कदम दूर हैं.

27 तक पहुंचाया ये आंकड़ा
अश्विन ने मैच का तीसरा दिन खत्म होने तक 41 ओवर की गेंदबाजी की और इसमें उन्होंने 11 ओवर मेडन फेंके. उन्होंनें 3.12 की इकोनॉमी के साथ 5 विकेट झटक डाले. मैच के दूसरे दिन पहले अश्विन ने मेहमान टीम को अच्छी शुरुआत करने से रोका और उसके बाद कप्तान फाफ डु प्लेसिस (Faf du Plessis) औक कविंटन डिकॉक (Quinton De Cock) को पवेलियन वापस भेजकर अपनी टीम को मैच में वापस ला दिया. अश्विन के नाम अब टेस्ट में कुल 27 बार पांच विकेट लेने की उपलब्धि हो गई है.

पांच विकेट हॉल का नया रिकॉर्ड
अश्विन ने इस पारी में पांच विकेट लेकर नया रिकॉर्ड भी बना लिया. 27 बार पांच विकेट लेकर अश्विन ने दक्षिण अफ्रीका के डेल स्टेन (Dale Steyn) को पीछे छोड़ दिया है. स्टेन के नाम 26 पांच विकेट हॉल हैं. वहीं अश्विन ने अब इंग्लैंड के जेम्स एंडरसन और इयान बॉथम की बराबरी कर ली है. अश्विन सबसे ज्यादा पांच विकेट हॉल लेने की सूची में 7वें स्थान पर आ गए हैं. इस सूची में सबसे ऊपर श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) हैं जिन्होंने 67 बार पांच विकेट लिए हैं.

350 विकेट का रिकॉर्ड
इन पांच विकेट लेने के साथ ही अश्विन अब एक और रिकॉर्ड के करीब आ गए हैं. अश्विन के अब 347 टेस्ट विकेट हो गए हैं और वे अपने 350 विकेट से केवल तीन विकेट दूर हैं. अगर वे इस टेस्ट में 350 विकेट ले लेते हैं, तो वे सबसे तेजी से 350 विकेट लेने के मामले में श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन की बराबरी कर लेंगे. मुरलीधरन ने अपने 350 विकेट भी 66 टेस्ट में लिए थे.

टीम इंडिया को मैच में वापस ला दिया है अश्विन ने
मैच के तीसरे दिन का खेल शुरू होने पर फाफ और टेम्बा बवुमा ने अफ्रीकी पारी की शुरूआत की. बवुमा के जल्द आउट होने के बाद पहले एल्गर और फाफ ने पारी को संभाला लेकिन अश्विन ने जल्द ही कप्तान फाफ को चलता कर दिया. उसके बाद एल्गर ने क्विंटन डिकॉक के साथ मिलकर टीम को स्करो 300 के पार कराया. तीसरे सत्र में एल्गर के आउट होने के बाद अश्विन ने डिकॉक को भी टिकने नहीं दिया. दिन के अंत में अश्विन ने वर्नेन फिलेंडर को भी आउट कर मेहमान टीम की मुश्किलें बढ़ा दी.