IND vs SA: चौथी पारी में जिसने ठोके सबसे ज्यादा रन, शमी ने तोड़ा उसी का स्टंप

0
153

विशाखापट्टनम: टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ (India vs South Africa) तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में शानदार जीत दर्ज की. इस मैच के पांचवे दिन भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने अपनी घातक गेंदबाजी की मदद से एसीए-वीडीसीए स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजी क्रम को तहस-नहस कर दिया. जब दक्षिण अफ्रीका के 9वें विकेट के लिए डेन पिएड्ट सेनुरान मुतुसामी के साथ बड़ी साझेदारी की को उसे शमी ने स्टंप तोड़कर तोड़ा.

पहले सत्र में लिए शमी ने तीन अहम विकेट
शमी के मैच के आखिरी दिन लिए गए पांच विकेटों की मदद भारत ने दक्षिण अफ्रीका को उसकी दूसरी पारी में 191 रन पर ऑल आउट कर 203 रन से मैच जीत लिया. तेज गेंदबाज शमी ने टेम्बा बावुमा, फाफ डु प्लेसिस और पहली पारी के शतकधारी क्विंटन डी कॉक को जल्दी-जल्दी आउट कर भारत को जीत की दहलीज पहुंचाया.

निचले क्रम को भी शमी ने ढहाया
निचले क्रम में डेन पिएड्ट ने 107 गेंदों पर 56 रन की पारी खेली. उन्होंने सेनुरान मुतुसामी (49) ने नौवें विकेट के लिए 91 रन की साझेदारी कर टीम के कुछ उम्मीदें जगाई थी. यहां पर भी शमी टीम इंडिया के लिए संकट मोचन बन कर उभरे और उन्होंने पिड्ट को भी बोल्ड कर भारत को महत्वूपर्ण सफलता दिलाई. शमी ने जब पिएड्ट को बोल्ड किया तो फिर स्टंप भी टूट गया. उन्होंने पांच विकेटों में से चार विकेट बोल्ड करके हासिल किया.

पांचवी बार लिए 5 विकेट
बाद में बीसीसीआई ने अपने इंस्टाग्राम पर शमी की एक फोटो पोस्ट की है, जिसमें शमी टूटे हुए विकेट के साथ पोज देते दिखाई रहे हैं. 29 वर्षीय शमी ने 2018 के बाद तीसरी बार एक पारी में पांच या उससे ज्यादा विकेट लिए हैं, जोकि किसी भी गेंदबाज द्वारा लिया गया सबसे ज्यादा विकेट हैं. टेस्ट क्रिकेट में दूसरी पारी के स्पेशलिस्ट माने जाने वाले शमी ने टेस्ट क्रिकेट में 5वीं बार एक पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा किया है.

मोहम्मद शमी ने अपने करियर में 158 टेस्ट विकेट लिए हैं. हाल ही में हुए वेस्टइंडीज दौरे में उन्होंने अपने करियर के 150 विकेट भी पूरे किए थे. शमी ने आईसीसी विश्व कप में अफगानिस्तान के खिलाफ वापसी की थी. उस मैच में शमी ने हैट्रिक ली थी.

23 साल बाद किया भारतीय पेसर ने यहा कारनामा
23 साल में पहली बार किसी भारतीय तेज गेंदबाज ने भारत में टेस्ट मैच की चौथी पारी में पांच विकेट लेने की उपब्धि हासिल की है. शमी से पहले जवागल श्रीनाथ ने 1996 में अहमदाबाद में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह कारनामा किया था. शमी को दूसरी पारी का स्पेशलिस्ट इसलिए माना जाता है क्योंकि उन्होंने 16 पहली पारियों में 23 विकेट लिए हैं जबकि 15 दूसरी पारी में उनके नाम 40 विकेट दर्ज हो गए हैं.