IND vs BAN Indore test: पहले सत्र में बांग्लादेश ने गंवाए 3 विकेट और भारत ने दो मौके

0
111

नई दिल्ली: इंदौर के होल्कर स्टेडियम में भारत और बांग्लादेश (India vs Bangladesh) के बीच पहला टेस्ट चल रहा है. टॉस जीत कर बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन वह अपने शुरुआती विकेट जल्दी गंवा बैठी. पारी के छठे और सातवें ओवर में टीम के सलामी बल्लेबाज पवेलियन लौट गए. इसके बाद कप्तान मोमिनुल ने पारी को संभाला लेकिन उन्हें मोहमद मिथुन का ज्यादा साथ नहीं मिला. इस बीच दो मौके खोने के बाद लंच तक टीम इंडिया और विकेट नहीं गिरा सकी और पहला सत्र बांग्लादेश ने तीन विकेट खोकर 63 के स्कोर पर खत्म किया.

पहला विकेट उमेश ने लिया
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की पारी की शुरुआत शादमान इस्लाम और इमरुल कायेस ने की. दोनों बल्लेबाजों ने पहले तीन ओवर में कोई रन नहीं बनाया. टीम इंडिया के बॉलर्स को 5 ओवर के बाद सफलता मिली. छठे ओवर में बांग्लादेश का पहला विकेट 12 के स्कोर पर गिरा. उमेश की गेंद पर कायेस तीसरी स्लिप पर उपकप्तान अजिंक्य रहाणे को कैच दे बैठे.कायेस केवल 6 रन ही बना सके.

इशांत ने शादमान को किया चलता
इसके बाद अगले ही ओवर में इशांत शर्मा ने शादमान को विकेट के पीछे ऋद्धिमान साहा के हाथों लपकवा कर मेहमान टीम को एक और झटका दे दिया. शादमान भी केवल छह रन ही बना सके. इस तरह 12 के स्कोर पर ही दो विकेट गंवाकर मेहमान टीम संकट में आ गई, लेकिन इसके बाद कप्तान मोमिनुल हक ने मोहम्मद मिथुन के साथ मिलकर टीम के विकेट गिरने का सिलसिला रोका.

मोमिनुल का कैच छोड़ा रहाणे ने
15वें ओवर से विराट ने गेंद अश्विन को थमा दी. अश्विन के दूसरे ओवर में ही अपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने मोमिनुल का स्लिप पर कैच छोड़ दिया. कैच थोड़ा सा मुश्किल था, लेकिन यह एक मौका जरूर था. मोमिनुल उस समय केवल तीन रन के निजी स्कोर पर थे. तब बांग्लादेश का स्कोर दो विकेट के नुकसान पर केवल 23 रन ही था.

18वें ओवर में मिली सफलता
शमी ने 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर मोम्मद मिथुन को एलबीडब्ल्यू आउट कराया. उनकी गेंद इतनी सटीक थी कि मिथुन को रीव्यू लेने की सलाह उनके कप्तान नहीं दे सके. मिथुन ने 36 गेंदों में एक चौके के साथ 13 रन बनाए. इस तरह बांग्लादेश का तीसरा विकेट केवल 31 रन पर गिर गया. उस समय मोमिनुल हक केवल 5 रन बनाकर क्रीज पर थे.

रहीम को मिला जीवनदान
24वें ओवर में मुश्फिकुर रहीम को तब जीवनदान मिला जब वे केवल तीन रन के स्कोर पर थे. उमेश के ओवर की पहली ही गेंद रहीम के बल्ले का किनारा ले बैठी लेकिन थर्ड स्लिप पर खड़े विराट कोहली इस कैच को लपक नहीं सके. यह कैच बहुत मुश्किल भी नहीं था. उस समय बांग्लादेश को स्कोर 48 रन था. इसके बाद रहीम और मोमिनुल ने टीम को स्कोर लंच से पहले 50 के पार करा दिया.