हरभजन सिंह सभी फॉर्मेट से लेंगे संन्यास, IPL 2020 के बाद फैसला

0
173

मुंबई। भारतीय टीम से लंबे वक्त से बाहर चल रहे ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले सकते हैं। भारतीय टी20 लीग अगले इंडियन प्रीमियर लीग के बाद क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले सकते हैं। पिछले साल युवराज सिंह और इरफान पठान ने भी टीम से बाहर रहने के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला लिया था।

स्टार भारतीय खिलाड़ी हरभजन के नजदीकी सूत्रों के अनुसार आगामी सत्र में भी हरभजन चेन्नई सुपर किंग्स का प्रतिनिधित्व करेंगे। इस साल मार्च और अप्रैल में खेले जाने वाले आईपीएल के दौरान ही अपने करियर को लेकर आधिकारिक घोषणा करेंगे। भज्जी ने आखिरी बार मार्च 2016 में भारत की तरफ से मैच खेला था।

39 साल के हरभजन ने आखिरी बार भारत का प्रतिनिधित्व 2016 में एशिया कप टी-20 टूर्नामेंट में यूएई के खिलाफ किया था। उन्होंने करीब चार साल के बाद 2015 में जिम्बाब्वे के खिलाफ भारतीय वन-डे टीम में वापसी की थी जबकि 2015 में ही तीन वर्ष के बाद टी-20 टीम में लौटे थे।

हरभजन ने टेस्ट पदार्पण मार्च 1998 में किया था और अगस्त 2015 तक 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट चटकाए। इस दौरान 25 बार उन्होंने पारी में पांच विकेट लेने का काम किया। वे 2008 से 2017 तक मुंबई इंडियंस टीम का भी हिस्सा रहे। इसके बाद 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स से जुड़े गए। साथ ही उन्होंने 48 मैचों में पंजाब रणजी टीम का प्रतिनिधित्व भी किया। वे पंजाब के कप्तान भी रहे।

भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में हरभजन सिंह तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। अनिल कुंबले के 619 और कपिल देव के 484 टेस्ट विकेट के बाद हरभजन का नंबर आता है। उन्होंने कुल 417 टेस्ट विकेट चटकाए हैं।

गौरतलब है कि पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने आईसीसी विश्व कप सेमीफाइनल के बाद से भारत के लिए कोई मैच नहीं खेला है। कयास लगाए जा रहे हैं कि वो धौनी भी आईपीएल के बाद अपने संन्यास की घोषणा कर सकते हैं।