वो खिलाड़ी जिसने क्रिकेट वर्ल्ड कप भी खेला और फुटबॉल विश्व कप भी, सचिन मानते हैं आदर्श

0
154

नई दिल्ली : Happy Birthday Sir Vivian Richards: हजारों लाखों लोग ऐसे होते हैं जो खेलों में अपने देश का प्रतिनिधित्व करना चाहते हैं, लेकिन मौका नहीं मिलता। वहीं, कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिन्होंने एक नहीं, बल्कि दो बड़े खेलों में अपने देश या अपनी टीम का प्रतिनिधित्व किया है, जिनमें वेस्टइंडीज टीम के बल्लेबाज सर विवियन रिचर्ड्स का नाम हैं, जिन्होंने अपनी टीम के लिए क्रिकेट विश्व कप भी खेला और फुटबॉल विश्व कप भी।

बेखौफ बल्लेबाजी के लिए जाने-जाने वाले सर विव रिचर्ड्स को क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर भी अपना आदर्श मानते हैं। 80 के दशक में हर बल्लेबाज बिना हेल्मेट के खेलता था, लेकिन विव रिचर्ड्स की बल्लेबाजी की दुनिया दीवानी थी। अक्सर अपनी बल्लेबाजी से विव रिचर्ड्स गेंदबाजों की लय खराब किया करते थे। बाद में भले ही वीरेंद्र सहवाग, क्रिस गेल और रोहित शर्मा जैसे बल्लेबाजों ने गेंदबाजों पर रहम नहीं किया हो, लेकिन इसकी शुरुआत विव रिचर्ड्स ने की थी।

विव रिचर्ड्स आज अपना 68वां जन्मदिन मना रहे हैं। एंटीगा के सेंट जोंस शहर में जन्मे विव रिचर्ड्स ने वेस्टइंडीज टीम के लिए 300 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। हैरान करने वाली बात ये है कि उन्होंने एंटीगा की टीम के लिए फुटबॉल विश्व कप भी खेला है। आपको जानकर ये आश्चर्य लगेगा कि 1974 से 1991 तक जहां गेंदबाजों को बोलबाला था। उसी समय विव रिचर्ड्स अपने बल्ले से गेंदबाजों की खबर लिया करते थे। आज भी टेस्ट क्रिकेट में जो उनका स्ट्राइकरेट है वो अतुलनीय है।

साल 1974 से 1991 के बीच विव रिचर्ड्स ने वेस्टइंडीज टीम के लिए 121 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनकी 182 पारियों में उन्होंने 50.24 के औसत से 8540 रन बनाए हैं। टेस्ट क्रिकेट में उनका स्ट्राइकरेट 86.07 का है, जो कि इतने ज्यादा टेस्ट मैच खेलने वाले किसी भी बल्लेबाज का उस दौर में नहीं था। यहां तक कि आज भी विराट कोहली और स्टीव स्मिथ या फिर डेविड वार्नर जैसे बल्लेबाज इतने के स्ट्राइकरेट से टेस्ट क्रिकेट में रन नहीं बनाते।

वेस्टइंडीज की टीम के लिए सर विव रिचर्ड्स ने 187 वनडे मैच भी खेले हैं, जिनकी 167 पारियों में उन्होंने 47 के औसत से 6721 रन बनाए हैं, जिसमें 11 शतक और 45 अर्धशतक शामिल हैं। वनडे क्रिकेट में विव रिचर्ड्स ने 90 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं, जो कि अपने आप में बड़ी बात है। 189 रन का व्यक्तिगत स्कोर विव रिचर्ड्स के नाम वनडे क्रिकेट में लंबे समय तक रहा था। वहीं, विश्व कप 1979 के फाइनल में खेली गई 138 रन की पारी उनके लिए ऐतिहासिक थी।

1970 और 1980 के दशक में क्रिकेट की दुनिया में राज करने वाली कैरेबियाई टीम के लिए विव रिचर्ड्स ने चार विश्व कप खेले। हालांकि, उस दौरे में वेस्टइंडीज को उनके तेज गेंदबाजों के लिए जाना जाता था, लेकिन उसी टीम का हिस्सा बैखोफ बल्लेबाज विव रिचर्ड्स भी थे जो विपक्षी टीम के गेंदबाजों के माथे पर चिंता की लकीरें खींच देते थे। विव रिचर्ड्स ने साल 1975, 1979, 1983 और 1987 में वेस्टइंडीज के लिए विश्व कप खेला है।

विव रिचर्ड्स उन चुनिंदा क्रिकेटरों में शामिल हैं, जो अपनी टीम के लिए इंटरनेशनल फुटबॉल भी खेल चुके हैं। विव रिचर्ड्स ने साल 1974 में फुटबॉल विश्व कप क्वालीफायर में एंटिगा की टीम के लिए फुटबॉल मैच खेला था। उस समय वे महज 20 साल के थे। हालांकि, अगले साल वे देश के लिए क्रिकेट विश्व कप भी खेलने उतरे।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतकों का शतक लगाने वाले दुनिया के एकमात्र क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी वेस्टइंडीज के इस धुरंधर बल्लेबाज के मुरीद हैं। सचिन विव रिचर्ड्स को अपना आदर्श मानते हैं। सचिन ने एक बार नहीं, बल्कि कई मौकों पर इस बात को स्वीकार किया है कि वे सिर्फ दो क्रिकेटरों को अपना आदर्श मानते थे। वे जब डिफेंस करते थे तो उनके आदर्श महान भारतीय खिलाड़ी सुनील गावस्कर थे और इसी तरह आक्रामक रवैये के लिए सचिन विवियन रिचर्ड्स हो फॉलो करते थे।