CSK को मिली हार, लेकिन दिल्ली कैपिटल्स के लिए किस लिहाज से ये बड़ी जीत रही जानिए

0
136

नई दिल्ली। आइपीएल 2020 का सातवां लीग मुकाबला एक तरफा रहा। इस मैच में दिल्ली की टीम हर विभाग में एम एस धौनी की चेन्नई सुपर किंग्स पर हावी नजर आई। पहले बल्लेबाजों का प्रदर्शन अच्छा रहा और टीम ने 20 ओवर में 3 विकेट पर 175 रन बनाए तो वहीं बाद में गेंदबाजों ने सीएसके के बल्लेबाजों को खुलकर खेलने का मौका नहीं दिया और ये टीम 20 ओवर में 7 विकेट पर 131 रन ही बना पाई और 44 रन से मैच हार गई।

ये जीत दिल्ली के लिए खास रही क्योंकि आइपीएल इतिहास में पहली बार दिल्ली की टीम ने रनों के लिहाज से सीएसके को इतने बड़े अंतर से हराया। यानी दिल्ली की टीम ने पहली बार चेन्नई को इस लीग के इतिहास में इतने रनों के अंतर से मात दी। हालांकि सीएसके को इस लीग में सबसे बड़े रनों के अंतर से मुंबई ने 2013 में हराया था।

रनों के लिहाज से आइपीएल में सीएसके की पांच सबसे बड़ी हार-

-60 रन विरुद्ध मुंबई 2013

-46 रन विरुद्ध मुंबई 2019

-44 रन विरुद्ध पंजाब 2014

-44 रन विरुद्ध दिल्ली 2020*

-41 रन विरुद्ध मुंबई 2015

दिल्ली डेयरडेविल्स की बात करें तो इस टीम ने पहली बार सीएसके पर रनों के मामले में इतनी बड़ी जीत दर्ज की, लेकिन इससे पहले दिल्ली की टीम ने आइपीएल में रन के मामले में सबसे बड़े अंतर से 2017 में पुणे को 97 रन से हराया था। दिल्ली ने इस साल चेन्नई पर रनों ने मामले में आइपीएल में पांचवीं बड़ी जीत दर्ज की।

आइीएल में रनों के लिहाज से दिल्ली की पांच बड़ी जीत-

-97 रन विरुद्ध पुणे 2017

-67 रन विरुद्ध राजस्थान 2010

-55 रन विरुद्ध कोलकाता 2018

-51 रन विरुद्ध पंजाब 2017

-44 रन विरुद्ध चेन्नई 2020*

दिल्ली को जो जीत मिली उसमें टीम के गेंदबाजों का भी बड़ा जबरदस्त योगदान रहा जिन्होंने सीएसके के बल्लेबाजों को खुलकर खेलने का मौका ही नहीं दिया। कगिसो रबादा ने एक बार फिर से टीम के शानदार गेंदबाजी की और 3 विकेट लिए तो वहीं एनरिच नोर्तजे ने भी दो विकेट हासिल किए। अक्षर पटेल को एक सफलता मिली। अमित मिश्रा विकेट नहीं ले पाए, लेकिन उन्होंने 4 ओवर में सिर्फ 23 रन दिए और रनों पर अंकुश लगाने का काम किया। वहीं पार्थिव पटेल को उनकी 64 रन की पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।