ओटिस गिब्सन बने बांग्लादेश टीम के गेंदबाजी कोच, चटकाए हैं 1000 से ज्यादा विकेट

0
130

ढाका : Ottis Gibson as Bowling Coach of Bangladesh: बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) ने मंगलवार को अपनी टीम के गेंदबाजी कोच का ऐलान किया है। वेस्टइंडीज के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज ओटिस गिब्सन (Ottis Gibson) को बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने अपनी सीनियर क्रिकेट टीम का गेंदबाजी कोच नियुक्त किया है। गिब्सन का पहला असाइनमेंट पाकिस्तान का दौरा है।

बारबाडोस में जन्मे 50 वर्षीय ओटिस गिब्सन ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के साथ 2 साल का करार किया है। 2020 से 2022 तक ओटिस गिब्सन बांग्लादेश की सीनियर टीम के गेंदबाजी कोच बने रहेंगे। ओटिस गिब्सन ने साउथ अफ्रीका के Charl Langeveldt को रिप्लेस किया है। चार्ल ने दिसंबर 2019 में टीम के गेंदबाजी कोच के पद से इस्तीफा दिया था और अपने देश की टीम के साथ जुड़ गए थे।

दरअसल, Langeveldt अब साउथ अफ्रीका की टीम के गेंदबाजी कोच नियुक्त किए गए हैं। इसलिए उन्होंने बांग्लादेश की टीम के साथ नाता तोड़ा था। वेस्टइंडीज की टीम के लिए 2 टेस्ट और 15 वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने वाले ओटिस गिब्सन के पास फर्स्ट क्लास और लिस्ट एक क्रिकेट 17 साल तक खेलने का अनुभव है। गिब्सन ने अपने प्रोफेशनल करियर में 1000 से ज्यादा विकेट चटकाए हैं।

बतौर खिलाड़ी साल 2007 में संन्यास का ऐलान करने वाले ओटिस गिब्सन ने लगातार कोचिंग पद पर बने हुए हैं। इस दौरान उन्होंने वेस्टइंडीज और साउथ अफ्रीका के मुख्य कोच की भूमिका निभाई है, जबकि इंग्लैंड के वे गेंदबाजी कोच रहे हैं। वहीं, बांग्लादेश के साथ पहली बार वे गेंदबाजी कोच की भूमिका में नई पारी शुरू करने जा रहे हैं। यहां तक कि हाल ही में समाप्त हुए बांग्लादेश प्रीमियर लीग (BPL) 2020 में ओटिस गिब्सन Cumilla Warriors के मुख्य कोच थे।

BCB के CEO निजामुद्दीन चौधरी ने कहा है कि गिब्सन का टीम में शामिल होना कोचिंग स्टाफ को मजबूती देगी। निजामुद्दीन चौधरी ने कहा है, “उनके पास दुनियाभर का अच्छा खासा अनुभव बतौर खिलाड़ी और कोच का है। उन्होंने बांग्लादेश टीम के खिलाड़ियों को करीब से परखा है। मुझे भरोसा है कि वह बांग्लादेश की कोचिंग टीम के साथ मिलकर अच्छा काम करेंगे।”

ओटिस गिब्सन पाकिस्तान के खिलाफ उसी की सरजमीं पर शुक्रवार से शुरू हो रही 3 मैचों की टी20 सीरीज से पहले टीम के साथ जुड़ जाएंगे। बुधवार को बांग्लादेश की टीम लाहौर के लिए रवाना होगी, जहां उसको 3 टी20 मैचों की सीरीज खेलनी है। इसके बाद फरवरी में टीम लौट आएगी और फिर अप्रैल में दो टेस्ट और एक वनडे मैच की सीरीज खेलने के लिए दोबारा लाहौर जाएगी।