सीएम शिवराज बोले- मध्य प्रदेश में फिलहाल नहीं लगेगा टोटल लॉकडाउन

0
219

भोपाल/ एक तरफ जहां मध्य प्रदेश में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है, तो वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार को लेकर समीक्षा बैठकें ले रहे हैं। बुधवार को मुख्यमंत्री ने शहर के मिंटो हॉल में मध्य प्रदेश के सभी धर्मगुरुओं के साथ बैठक ली। इस दौरान सीएम ने कहा कि, मध्य प्रदेश में कोरोना को लेकर स्थितियां लगातार विकट हो रही हैं। फिलहाल, टोटल लॉकडाउन लगाने पर कोई फैसला नहीं होगा, लॉकडाउन आखिरी विकल्प है। इस दौरान सीएम ने एमपी का नया स्लोगन भी दिया।

समाज को प्रशासन के साथ मिलकर संक्रमण से लड़ना होगा- CM

सीएम ने कहा कि, हर एक जिले की स्थितियों को लेकर लगातार समीक्षा की जा रही है। सभी ज़िलों की स्थितियों को परखने के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा। सीएम शिवराज ने MP का नया मतलब गढ़ते हुए कहा कि, ‘एमपी मतलब मास्क पहनना’। धर्मगुरुओं से चर्चा के दौरान सीएम ने कहा कि, कोरोना के खिलाफ जंग में सरकार को हर वर्ग का बहुत व्यापक समर्थन मिल रहा है। लेकिन, संक्रमण की दूसरी लहर अधिक प्रभावी है, जिससे निपटने के लिये समाज को प्रशासन के साथ मिलकर लड़ना होगा।

धर्मगुरुओं से मांगे सुझाव

सीएम शिवराज द्वारा प्रदेशवासियों में कोरोना के प्रति जागरूकता लाने का स्वास्थ आग्रह 24 घंटे बाद पूरा हो गया। सीएम पिछले 24 घंटों से शहर के मिंटों हॉल में बैठे थे और यहीं से प्रदेश की जिम्मेदारियों को संभाल रहे थे। बुधवार को स्वास्थ आग्रह के अंतिम चरण में सीएम ने प्रदेश के धर्मगुरुओं से चर्चा कर प्रदेश की मौजूदा स्थितियों से अवगत कराते हुए संक्रमण से निपटने के लिये सुझाव भी मांगे। इससे पहले उन्होंने समाज के अलग-अलग तबकों से भी सुझाव मांगे थे।

लॉकडाउन आखिरी विकल्प होगा

सीएम ने कहा कि, टोटल लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था चौपट हो जाती है। लेकिन लोगों का स्वास्थ पहले है। इसलिये टोटल लॉकडाउन सबसे आखिरी विकल्प होगा। फिलहाल, कंटेनमेंट जोन के आधार पर लॉकडाउन लगाया जाएगा। जिन-जिन जिलों में जरूरत होगी, वहां पूर्ण विचार के बाद ही अंतिम विकल्प के रूप में लॉकडाउन लगाया जाएगा। हालांकि, बैठक से पहले इस बात का अनुमान लगाया जा रहा था कि, आज की बैठक के बाद सीएम लॉकडाउन को लेकर कोई बड़ा पैसला ले सकते हैं। लेकिन, सीएम के इस फैसले के बाद प्रदेश के मध्यम वर्ग को राहत मिली है।