Chhattisgarh : क्वारंटाइन सेंटर में सांप के काटने से मौतें, रमन सिंह ने ऐसे किया कटाक्ष

0
259

बिलासपुर। Chhattisgarh snake bite पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ.रमन सिंह ने कहा कि जब केंद्र सरकार उत्तर प्रदेश,बिहार सहित अन्य राज्यों के प्रवासियों को लाने के लिए ट्रेन चला रही थी उस वक्त तक छत्तीसगढ़ राज्य सरकार कोई योजना नहीं बना पाई थी। यही कारण है कि मजदूर अब भी भटक रहे हैं। कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए राज्य सरकार की भागीदारी कहीं दिखाई नहीं दे रही है। यह देश का पहला राज्य है जहां क्वारंटाइन सेंटर में मजदूर सांप काटने से मर रहे हैं। अव्यवस्था का आलम ये कि प्रवासी फांसी लगाकर अपनी जान दे रहे हैं। सेंटरों में मजदूरों को सरपंचों के भरोसे छोड़ दिया गया है।

पूर्व सीएम डॉ. सिंह भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। डॉ. सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के साथ ही क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले प्रवासी मजदूरों के अलावा अन्य लोगों के लिए पुख्ता प्रबंध किए। मप्र की भाजपा सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए ग्राम पंचायतों को 1500 रुपये करोड़ दिए । छत्तीसगढ़ की सरकार ने यह काम नहीं किया। पता नहीं क्यों।

प्रदेश की पंचायतों में 14 वें वित्त की राशि का उपयोग किया जा रहा है। यह राशि केंद्र सरकार द्वारा पंचायतों को दी जाती है। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए राज्य की ओर से अब तक ईमानदारी के साथ कार्य ही नहीं किया गया है। भाजपा के महाजनसंपर्क अभियान के लिए बिलासपुर पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की एक वर्ष की उपलब्धियों का इस दौरान सिलसिलेवार ब्योरा भी दिया ।

उन्हें एक-एक कर केंद्र सरकार की ऐसी तमाम योजनाओं का जिक्र किया जिसने देश की सूरत और सीरत बदलने में क्रांतिकारी सफलता अर्जित की। केंद्र की मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहले वर्ष की समाप्ति पर भाजपा द्वारा देशभर में शुरू किए गए महा जनसंपर्क अभियान का जिक्र करते हुए डॉ सिंह ने कहा कि इस दौरान पूरे देश में 10 करोड़ और छत्तीसगढ़ में 25 लाख परिवारों तक भाजपा के कार्यकर्ता पहुंच कर उन्हें प्रधानमंत्री का पत्र और केंद्र सरकार द्वारा किए गए कार्यों का एक पंपलेट सौंपेंगे ।

दो-दो की संख्या में घरों-घर जाने वाले कार्यकर्ता शारीरिक दूरी का पूरा ध्यान रखते हुए लोगों को केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी देंगे।

संक्रमण काल में लोगों को बेघरबार करना अनुचित

अरपा नदी के किनारे सड़क बनाने लोगों की झोपड़ियों को ढहाने और बेघरबार करने के सवाल पर कहा कि अभी तो देशभर में यह मुहिम चलाई जा रही है कि कोरोना संक्रमण काल में किसी को बेघर न किया जाए। पूरे देश में लोगों को बसाने की मुहिम चल रही है तो यहां कुछ अलग ही हो रहा है।

मकान तोड़े जा रहे हैं लोगों को बेदखल करने के साथ बेघरबार किया जा रहा है। पार्षद को गिरफ्तार कर थाने में बैठाने की सूचना भी आ रही है। जब तक बेहतर विस्थापन की व्यवस्था न हो जाए तब तक लोगों को बेघरबार नहीं किया जाना चाहिए।

वर्चुअल रैली का होगा आयोजन

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में जल्द ही एक वर्चुअल रैली का भी आयोजन किया जाएगा। जिसमें केंद्रीय नेता के द्वारा प्रदेश के 40 हजार से अधिक कार्यकर्ताओं को संबोधित किया जाएगा। चर्चा के दौरान छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल,पूर्व मंत्री पुन्नूलाल मोहले,बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद अरुण साव, मस्तूरी क्षेत्र के विधायक डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी, बेलतरा क्षेत्र के विधायक रजनीश सिंह, प्रदेश प्रवक्ता भूपेंद्र सवन्नी, जिला भाजपा अध्यक्ष रामदेव कुमावत तथा जिला भाजपा महामंत्री घनश्याम कौशिक सहित प्रमुख पदाधिकारियों की मौजूदगी रही ।