100 में से 90 लोग नहीं जानते होंगे ‘हल्दी वाले दूध’ की ये खास बात, एक्सपर्ट से जानें दूध पीने का सही तरीका

0
146

चोट लगने या फिर मांसपेशियों में खिंचाव व तनाव आने पर आपने अक्सर अपनी दादी-नानी या फिर मम्मी के मुंह से सोना होगा ‘बेटा हल्दी वाला दूध पी ले ठीक हो जाएगा’। ये शत-प्रतिशत बिल्कुल सही है कि हल्दी वाले दूध में गजब के फायदे होते हैं। अंग्रेजी भाषा में इसे टर्मरिक मिल्क कहते हैं लेकिन हिंदी भाषी लोग हल्दी वाले दूध इस पेय को किसी ‘सुपर ड्रिंक’ से कम नहीं मानते हैं। मौजूदा वक्त में भी हल्दी वाले दूध को उतना ही फायदेमंद माना जाता है जितना की पहले माना जाता है। यही कारण है कि पूरी दुनिया में हल्दी वाले दूध की शक्ति को माना और पहचाने जाना लगा है। हल्दी को उसके एंटी-बायोटिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों के लिए जाना जाता है। इस मसाले को गर्म दूध के साथ मिलाकर पीने से कई स्वास्थ्य समस्याओं में राहत मिलती है, मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाने के अलावा ये आपकी त्वचा को भी सुंदर बनाने का काम करता है। इसी वजह से पूरी दुनिया में हल्दी वाला दूध एक सेंशेन बन चुका है।

भारत में सिर्फ आम लोग ही नहीं बल्कि बड़े-बड़े स्टार्स भी हल्दी वाला दूध पीते हैं। जी हां, बिल्कुल ठीक पढ़ा आपने। करीना कपूर खान जैसे कई फिल्मी सितारों की फिटनेस एक्सपर्ट रुजुता दिवेकर ने भी अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इस ‘सुपर ड्रिंक’ की खूबियां बताई हैं। दरअसल बहुत से लोग अपनी डेली डाइट में हल्दी वाला दूध शामिल करते हैं लेकिन सभी इस बात से वाकिफ नहीं है कि इसका सेवन कैसे करना है। इस ड्रिंक के बारे में ऐसी कई बातें हैं, जिन्हें इसके नियमित सेवन से पहले जानना आपके लिए बेहद जरूरी है। इसलिए रुजुता आपके साथ कुछ ऐसे टिप्स शेयर कर रही हैं, जो हल्दी वाले दूध का सेवन करने वाले लोगों को जानना बेहद जरूरी हैं। इस लेख में आप जानेंगे कि कैसे हल्दी वाला दूध पीना चाहिए ताकि आपको अधिक से अधिक लाभ मिलें।

नियमित रूप से हल्दी दूध का सेवन
रुजुता का कहना है कि हल्दी वाले दूध के लिए हमेशा आपको नॉन ब्रांडेंड, रेगुलर फुल फैट मिल्क का उपयोग करना चाहिए, जो आपके आस-पास डेयरी पर मिलता हो। लेकिन अगर आप ऐसे किसी इलाके में रह रहे हैं, जहां रेगुलर मिल्क मिल पाना थोड़ा मुश्किल है तो गाय का ताजा दूध ढूंढने का प्रयास करें। उन्होंने बताया कि सबसे अच्छा दूध वो होता है, जिसे अगर कुछ देर तक फ्रीज में न रखा जाए तो ये कुछ घंटों में ही खराब हो जाता है।

प्राकृतिक रूप से उगाई हल्दी का प्रयोग करे
ऐसे हल्दी पाउडर को खरीदने का प्रयास करें, जिन्हें प्राकृतिक और स्थानीय रूप से उगाया गया हो खासकर जब कोई हल्दी का पौधा केले के पेड़ की छाया में मिर्ची के साथ उगी हो और उसके बगल में गेंदे का फूल उगा हुआ हो।

रात में हल्दी वाला दूध पीने के लिए मिलाएं ये अन्य मसाले
अगर आपको डर लग रहा है कि रात में हल्दी वाला दूध पीने के बाद आपको सर्दी या जुकाम न पकड़ ले तो आप इसमें हल्दी के साथ एक चुटकी काली मिर्च या फिर जायफल मिला लें। हैरत की बात ये है कि ये सुपर ड्रिंक आपको कई प्रकार के संक्रमण से भी बचाने में मदद कर सकता है। रात को सोते वक्त हल्दी वाला दूध पीने से वजन कम करने में भी मदद मिलती है क्योंकि हल्दी और दूध मिलकर एक ऐसा जबरदस्त कॉम्बिनेशन बन जाता है, जो जरूरी फैटी एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरा होता है। हल्दी वाले दूध के अधिक फायदे लेने के लिए आप इसमें कालीमिर्च और जायफल जरूर मिलाएं।

रात में हल्दी वाला दूध पीना ज्यादा फायदेमंद
रुजुता के मुताबिक, आप चाहें तो हल्दी वाला दूध सुबह पी सकते हैं लेकिन रात में इसे पीना ज्यादा बेहतर होता है। सुबह में हल्दी वाला दूध पीना भी समान प्रभाव दिखाता है लेकिन रात की तुलना में परिणाम ज्यादा बेहतर सामने आते हैं। रात में हल्दी वाला दूध पीने का मुख्य कारण है कि ये आपके हार्मोन संतुलन को ऑप्टमाइज कर देता है, जिसके कारण आपको नींद बेहतर आती है और आप अगली सुबह फ्रेश उठते हैं। हर दिन के साथ यह प्रक्रिया बहुत अच्छी होती चली जाती है।

पीसीओडी में फायदेमंद हल्दी वाला दूध
हल्दी दूध पीसीओडी मरीजों के लिए एक अच्छी ड्रिंक है खासकर उन महिलाओं के लिए जिन्हें मूत्राशय के मुंहासे होते हैं। इस मामले में आप इसमें एलिव बीज मिला सकते हैं, जो आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित होंगे।

ज्यादा हल्दी वाला दूध पीना एक सही विचार नहीं
अगर आप रोजाना हल्दी वाला दूध पीते हैं तो आपको एसिडिटी और पेट फूलने की समस्या हो सकती है। हालांकि सब्जी या फिर दाल बनाते वक्त रोजाना थोड़ा सा दूध और हल्दी डालना बिल्कुल सुरक्षित है। इसलिए इस जानकारी का प्रयोग करें और हल्दी वाले जादुई दूध पीकर अपना स्वास्थ्य सुधारें।