महापौर के पत्र में ऐसी क्या बात थी, जिससे नाराज हो गया राज्य निर्वाचन आयोग

0
145

कानपुर । वार्ड संख्या आठ के पार्षद का इस्तीफा महापौर ने स्वीकार कर लिया। इसके बाद इसकी जानकारी भी उन्होंने राज्य निर्वाचन आयोग को भेज दी, लेकिन जिस अधिकारी या कर्मचारी ने यह पत्र भेजा। उसने इस पत्र को राज्य सूचना आयोग के सूचनापट में भी पृष्ठांकित करने की सिफारिश भेज दी। आयोग इस बात से बेहद नाराज है। नगर आयुक्त को पत्र भेजकर ऐसे कर्मचारी या अधिकारी को कठोर चेतावनी देने के आदेश दिए हैं।

महानगर के वार्ड आठ से निर्वाचित पार्षद संदीप ने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया था। जिसे महापौर प्रमिला पांडेय ने स्वीकार कर लिया था। 30 जुलाई को इस्तीफा स्वीकार कर लेने की जानकारी राज्य निर्वाचन आयोग के सभी अधिकारियों को भेज दी गई। गड़बड़ यह हुई कि जिस अधिकारी या कर्मचारी ने यह पत्र भेजा। उसने इस पत्र को राज्य निर्वाचन आयोग के सूचना पट पर पृष्ठांकित करने की सिफारिश भी कर दी। यही बात आयोग की नाराजगी की वजह बन गई।

आयोग के अपर आयुक्त वेदप्रकाश वर्मा ने इस संबंध में नगर आयुक्त को पत्र भेजकर नाराजगी जताई है। कहा कि आयोग एक संवैधानिक संस्था है। ऐसे में महापौर के पत्र को आयोग के सूचना पट पर लगाए जाने के लिए पृघ्ठांकित करना नितांत आपत्तिजनक है। इसलिए उत्तरदायी अधिकारी या कर्मचारी को कठोर चेतावनी देते हुए आयोग को अवगत कराया जाए।