Raipur Mayor : महापौर के लिए कांग्रेस ने CM भूपेश को किया फ्री हैंड, पार्षदों ने दी सहमति

0
131

रायपुर। नगर निगम में महापौर का उम्मीदवार तय करने के लिए सभी नगर निगम में कांग्रेस के पार्षदों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम को फ्री हैंड दे दिया है। पार्षदों ने सर्वसम्मति से आला कमान जो फैसला लेगा, उसे मानने पर सहमति दे दी है। रायपुर नगर निगम कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल है। राजधानी में पिछले दो बार से कांग्रेस का महापौर है। ऐसे में बहुमत के नजदीक पहुंचे कांग्रेस दल ने निर्दलीय को साध लिया है। अब राजधानी में भी कांग्रेस का महापौर तय हो गया है।

कांग्रेस के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो तीनों विधायकों ने भी अपनी पसंद के बारे में कोई राय नहीं दी है। बल्कि विधायकों ने भी रायपुर नगर निगम के महापौर उम्मीदवार का नाम तय करने के लिए मुख्यमंत्री बघेल को अधिकृत कर दिया है।

सूत्रों की मानें तो कांग्रेस महापौर उम्मीदवार बनाने की नफा नुकसान का आंकलन कर रही है। बताया जा रहा है कि किसी नए पार्षद को महापौर प्रत्याशी बनाया जाएगा, तो क्रास वोटिंग हो सकती है। ऐसे में पार्टी इसका आंकलन भी कर रही है। वहीं, भाजपा ने भी मैदान खुला नहीं छोड़ा है।

भाजपा पांच निर्दलीय पार्षदों को अपने पक्ष में कर लिया है। वहीं, दो पार्षद कांग्रेस के पाले में जाते नजर आ रहे हैं। कांग्रेस को रायपुर नगर निगम में सिर्फ दो पार्षदों के समर्थन की जरूरत है। वहीं, निर्दलीय अमर बंसल और जितेंद्र अग्रवाल की गोपनीय बैठक पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के साथ हुई है। ये दोनों नेता निर्दलीय पार्षदों का नेतृत्व कर रहे हैं।

नगर पंचायत और नगर पालिका में अध्यक्ष के लिए जोड़तोड़

कांग्रेस और भाजपा ने ज्यादा से ज्यादा नगर पालिका और नगर पंचायत में अपने अध्यक्ष बनाने के लिए जोड़तोड़ शुरू कर दी है। दोनों दलों ने पर्यवेक्षक नियुक्त कर दिए हैं। नगर पालिका में कांग्रेस को बढ़त का अनुमान है, जबकि नगर पंचायत में भाजपा बाजी मारती नजर आ रही है। भाजपा के पर्यवेक्षकों ने नगर पालिका अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के उम्मीदवार चयन के लिए पहले दौर की बैठक पूरी कर ली है। कांग्रेस ने नगर पंचायत के लिए एक दिन पहले ही पर्यवेक्षकों की घोषणा की है।