Chhattisgarh : धान खरीदी मुद्दे पर भूपेश सरकार ने किया किसानों का अपमान, भाजपा करेगी ‘भात पर बात’

0
160

रायपुर। Politics of Chhattisgarh : अन्न्दाताओं का किया अपमान, भाजपा करेगी भात पर बात, भाजपा नेता व पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने प्रेसवार्ता में यहां कहा है कि भाजपा भात पर बात कार्यक्रम चलाएगी। उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार ने धान खरीदी के मामले में किसानों को रुलाया है। धान खरीदी की समुचित व्यवस्था नहीं करके सरकार ने छत्तीसगढ़ के अन्न्दाताओं का अपमान किया है। छत्तीसगढ़ की संस्कृति भात (चावल) से जुड़ी है। हम 20 हजार गांवों तक जाकर इस पर चर्चा करेंगे।

कल छेरछेरा का त्यौहार है, इस अवसर पर भात पर बात कार्यक्रम का शुभारंभ भाजपा करने जा रही है। उन्होंने कहा कि छेरछेरा पर्व में गांवों में अन्न्दान की परंपरा है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकारी निर्देशों के अतिरिक्त मौखिक निर्देश पर भी किसानों के धान की जब्ती कराई जा रही है। किसानों के धान की जब्ती बनाने के लिए पटवारी, पुलिस से लेकर विभाग के प्रमुख सचिव तक जुटे हुए हैं।

समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 2500 रुपये में करने का वादा किया था, लेकिन ऐसा नहीं करके 1810 स्र्पये में खरीदी की जा रही है। डिफरेंस की राशि कैसे देंगे? इसका पता लगाने कमेटी बना दी गई है।

उन्होंने कहा कि हमने इससे पहले भी बनी एक कमेटी का हश्र देखा है। शराबबंदी को लेकर कमेटी बनाई थी। नशे के मामले में छत्तीसगढ़ ने पंजाब को भी पीछे छोड़ दिया है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास का बजट सरकार ने घटाया है। 14 वें वित्त आयोग का पूरा पैसा नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी में लगा दिया है। लेकिन इस योजना का क्या लाभ मिला है?

ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के नाम पर एक ऐसी योजना शुरू कर दी गई है,जिसका कोई सिर-पैर नही है। पंचायत के पैसे का सरकार गलत उपयोग कर रही है। हम प्रदेशभर में भात पर चर्चा करेंगे। ग्रामीण अर्थव्यवस्था को लेकर एक भी योजना सरकार ने शुरू नहीं की है।

छत्तीसगढ़ के किसान सरकार के चेहरे से वाकिफ हो गए हैं। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव शुरू हो रहे हैं, बीजेपी ने सभी 27 जिलों में अपने पैनल की घोषणा कर दी है। पहली बार जनपद स्तर तक हमने पैनल बनाया है।