PM Awas Scheme : पीएम आवास पर कैंची, इस साल घटा दिए गांवों के मकान का टारगेट

0
114

रायपुर । रायपुर के ग्रामीण इलाकों में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान बनाकर गरीबों को विस्थापित करने के टारगेट में भी इस साल कैंची चली है। सालों से आवास की बाट जोह रहे सभी गरीबों को फिलहाल मकान मिलना संभव नहीं दिख रहा है। बता दें कि रायपुर में इस बार सिर्फ 250 मकान बनाने का टारगेट मिला है। आधे सत्र बीतने के बाद अभी तक सिर्फ एक ही मकान बन पाया है, जबकि पिछले सालों का टारगेट भी अधूरा है। इससे पहले भाजपा सरकार के दौरान प्रदेश में आवास योजना को लेकर अफसर भी लगातार सक्रिय रहे। टारगेट का 90 से 95 फीसद तक आवास का निर्माण किया गया। इस साल सिर्फ 250 मकान बनाने का टारगेट मिला है। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि ज्यादातर के मकान बन गए हैं लेकिन सवाल उठ रहे हैं कि पिछले सालों के भी सभी मकान नहीं बन पाए हैं। गौरतलब है कि केंद्र सरकार के प्रधानमंत्री आवास योजना का लक्ष्य है कि साल 2022 तक हर परिवार का पक्का मकान हो।

साल बनाने थे मकान बन पाए नहीं बन पाए

2016 से 2018 तक 13035 12808 227

सत्र 2018-19 12313 11579 734

सत्र 2019- 20 250 01 अभी तक 249

1700 मकानों को अभी राशि का इंतजार

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लगभग 25 हजार गरीबों को आशियाना मिल चुका है। बता दें कि वर्ष 2016-2017 व 2017-18 में कुल 13035 पीएम आवास बनाने का लक्ष्य था। इसमें से 12808 आवास पूर्ण हो चुके हैं। 2018-19 में भी 12313 पीएम आवास बनाने की स्वीकृति मिली थी। इसमें 11579 आवास पूरे हो चुके हैं। हालांकि अधिकारियों का दावा है कि बाकी मकान भी निर्माणाधीन हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सब्सिडी वाले करीब 1700 हितग्राहियों को अभी तक राशि नहीं मिल पाई है।

– पिछले सालों की तुलना में इस साल टारगेट कम है। मकान लगातार बनाए जा रहे हैं। टारगेट पूरा हो जाएगा। बाकी किस्त के मामले वाले सिर्फ 1700 करीब मकान हैं । उनकी किस्त आते ही टारगेट पूरा हो जाएगा। – गौरव सिंह, सीईओ, जिला पंचायत रायपुर