Chhattisgarh Panchayat Election 2020: बलरामपुर में जिला पंचायत की दोनों सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों की जीत

0
181

अंबिकापुर । बलरामपुर जिला पंचायत की दोनों सीटों पर भाजपा समर्थित प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है। परिसीमन में सीट बदल जाने के कारण जिला पंचायत सदस्य धीरज सिंहदेव ने अपनी मां राधा सिंह को चुनाव मैदान में उतारा था। इस सीट से राधा सिंह रिकॉर्ड मतों से जीती हैं। जिला पंचायत क्षेत्र के सभी बूथों से प्राप्त रुझानों के अनुसार राधा सिंह लगभग 20000 मतों से सभी प्रत्याशियों से आगे हैं। बलरामपुर विकासखंड के जिला पंचायत की दूसरी सीट पर वर्तमान सदस्य विनय पैकरा के परिवार की पूर्णिमा पैकरा भी चुनाव जीत चुकी हैं। पिछले पंचवर्षीय कार्यकाल में धीरज सिंहदेव और विनय पैकरा ने जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीता था। इस बार परिसीमन में दोनों जिला पंचायत सदस्यों की सीटें बदल गई थी।

आरक्षण से सीट बदलने को राजनीति से प्रेरित बताया जा रहा था। इन दोनों जिला पंचायत सदस्यों ने अपने परिवार के महिला सदस्यों को न सिर्फ चुनाव मैदान में उतारा बल्कि उन्हें जीत भी दिला दी। धीरज सिंह देव को राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम का खास समर्थक माना जाता है।

पिछले चुनाव में उन्हें जिला पंचायत उपाध्यक्ष का सशक्त दावेदार माना जा रहा था, लेकिन अंतिम समय में आपसी खींचतान के कारण उन्हें उपाध्यक्ष पद की जवाबदारी नहीं दी गई थी, इसके बावजूद उन्होंने भाजपा पार्टी संगठन से जुड़े रहकर कार्य करना जारी रखा था।

बलरामपुर जिला पंचायत की 14 सीटों में से 8 सीटों पर चुनाव हो चुका है। पहले चरण में कुसमी, शंकरगढ़ और राजपुर विकासखंड की 6 सीटों के लिए मतदान हुआ था। पहले चरण में जिला पंचायत की 6 में से 4 सीटों पर भाजपा समर्थित प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की थी दूसरे चरण में 2 सीट पर भाजपा समर्थित प्रत्याशियों की जीत हुई है।

दोनों चरण को मिलाकर भाजपा समर्थित 6 जिला पंचायत सदस्य निर्वाचित हो चुके हैं। कांग्रेस के खाते में अभी तक सिर्फ 2 सीटें गई हैं। ऐसे में तीसरे चरण के चुनाव में यदि 2 सीट भी भाजपा को मिलती है तो पिछले चुनाव के समान इस बार भी बलरामपुर जिला पंचायत में भाजपा को बहुमत मिल जाएगी। तीसरे और अंतिम चरण के चुनाव में भाजपा अजजा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम की धर्मपत्नी पुष्पा नेताम और पुत्री निशा नेताम भी चुनाव मैदान में है।