भोपाल में ओबीसी महासभा का आंदोलन जारी, मांगे न मानने पर चुनाव में सरकार को नुकसान पहुंचाने की चेतावनी

0
43

भोपाल में ओबीसी महासभा का आंदोलन जारी है। राजधानी के सेकंड स्टॉप स्थित मंदिर के पास आधे कपड़ों में बैठे महासंघ के कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। अपनी 7 सूत्री. मांगों को लेकर ओबीसी महासभा के प्रदेश पदाधिकारी और सदस्य मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने भी निकले लेकिन पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया। ओबीसी महासभा के साथ शिक्षक संघ मेडिकल छात्र संगठन भी इस आंदोलन में शामिल हैंं। इन्होने चेतावनी दी है कि अगर सरकार ने इनकीं मांगें नहीं मानी तो आने वाली विधानसभा चुनाव में ये सरकार को नुकसान पहुंचाएंगे।

जैसे जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, विभिन्न संगठनों की मांगें तेज होने लगी है। ओबीसी महासभा की मांगों में ओबीसी वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने और जातिगत जनगणना प्रमुख रूप से शामिल है। इन मांगों को लेकर ओबीसी वर्ग में सरकार के प्रति नाराजगी है और उन्होने चेतावनी दे दी है कि अगर जल्द ही इनकी मांगें नहीं मानी गई तो बीजेपी को चुनावों में इसका नुकसान उठाना पड़ सकता है। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ पहले ही इन्हें आश्वासन दे चुके हैं कि कांग्रेस पार्टी के सत्ता में आने के बाद फिर से 27 प्रतिशत आरक्षण का अधिकार ओबीसी वर्ग को देगी। कमलनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार ने ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण दिया था, लेकिन मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने षडयंत्रपूर्वक इस आरक्षण को समाप्त करा दिया। वहीं सरकार बनने पर उन्होने इसे पुन: बहाल करने का वादा किया है।