MP की 5 महापौर सीटों में से BJP-कांग्रेस 2-2 जीतीं

0
103

विंध्य-चंबल में सीट नहीं बचा सकी भाजपा, कटनी में निर्दलीय बनीं मेयर

भोपाल। मध्यप्रदेश में 5 नगर निगम की तस्वीर साफ हो चुकी है। यहां दूसरे चरण में चुनाव हुए थे। कांग्रेस ने मुरैना और रीवा में बीजेपी से 1-1 सीट छीन ली। बीजेपी के खाते में रतलाम और देवास की 1-1 सीट ही आई है। पिछले चुनाव में ये पांचों मेयर सीट बीजेपी को मिली थी। साफ कहा जाए तो बीजेपी मालवा छोड़ विंध्य और चंबल में सीट नहीं बचा सकी। हालांकि, पांचों निगमों में बोर्ड बीजेपी का ही बनना तय है।
कटनी में बड़ा उलटफेर हुआ। बीजेपी से यह सीट बागी निर्दलीय उम्मीदवार प्रीति सुरी ने छीन ली। बीजेपी में वापसी के सवाल पर प्रीति ने कहा कि अभी उ
न्होंने इस बारे में कुछ सोचा नहीं है। पार्टी ने उन्हें 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। जो जनता के हित में होगा, उसे करूंगी। इतनी बड़ी पार्टी उन्हें वापस लेने क्यों आएगी। उन्होंने फिर दोहराया कि जो जनता के हित में होगा, उसे करूंगी…।
भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा के संसदीय क्षेत्र कटनी में सबसे ज्यादा रोचक मुकाबला रहा। भाजपा की बागी प्रत्याशी प्रीति सूरी ने बीजेपी प्रत्याशी ज्योति को 5 हजार से ज्यादा वोट से हराया। कांग्रेस यहां तीसरे नंबर पर रही। कटनी की तीन विधानसभा खजुराहो लोकसभा में हैं। खजुराहो से वीडी शर्मा सांसद हैं। बता दें कि कटनी निगम बोर्ड के 45 वार्डों में से 27 पर बीजेपी ने जीत हासिल की है। 15 पर कांग्रेस का कब्जा है। इससे साफ है कि यहां बोर्ड बीजेपी का बनेगा।
5 निगमों में BJP-कांग्रेस को 2-2 सीट
रीवा में कांग्रेस प्रत्याशी अजय मिश्रा ने 9 हजार से ज्यादा वोटों से बीजेपी प्रत्याशी प्रबोध व्यास को हराया। कांग्रेस का यहां 24 साल बाद सूखा खत्म हुआ। रीवा में खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीजेपी प्रत्याशी के लिए दो बार सभा की थी। रीवा में वार्ड 16 से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद राजमणि पटेल के बेटे सज्जन पटेल 72 वोट से पार्षद का चुनाव हार गए। उन्हें भाजपा प्रत्याशी शालिग्राम नापित ने हराया। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के गढ़ मुरैना में कांग्रेस प्रत्याशी शारदा सोलंकी ने 12874 वोटों से जीत दर्ज की। रतलाम में दूसरी बार निगम चुनाव हुए। पहला चुनाव बीजेपी ने जीता था। रतलाम में बीजेपी के महापौर प्रत्याशी प्रहलाद पटेल 8591 वोट से जीते। देवास में बीजेपी प्रत्याशी गीता अग्रवाल ने 45884 वोटों से जीत दर्ज की।
नगर निगम में ऐसी स्थिति रही
रतलाम: बीजेपी के प्रहलाद पटेल और कांग्रेस के मयंक जाट के बीच मुकाबला था। पटेल के लिए बीजेपी के बागी उम्मीदवार अरुण राव के मैदान में होने से मुकाबला मुश्किल माना जा रहा था। आम आदमी पार्टी के अनवर खान, समाजवादी पार्टी की आफरीन खान, नेशनलिस्ट पार्टी के जहीरुद्दीन समेत 7 उम्मीदवार मैदान में थे।
मुरैना: मुरैना में भाजपा की महापौर प्रत्याशी मीना-मुकेश जाटव और कांग्रेस प्रत्याशी शारदा सोलंकी के बीच टक्कर थी। बीजेपी के लिए यह सीट प्रतिष्ठा का विषय थी, क्योंकि सीएम शिवराज के अलावा केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कमान संभाल रखी थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी प्रचार किया था। कांग्रेस प्रत्याशी के लिए कमलनाथ प्रचार करने पहुंचे थे। नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह और पूर्वमंत्री जयवर्धन सिंह ने भी प्रचार किया था।
रीवा: 24 साल से भाजपा का कब्जा रहा है, लेकिन इस बार कांग्रेस ने जीत दर्ज की। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रीवा में प्रचार करने दो बार पहुंचे थे। कांग्रेस और BJP में सीधी टक्कर रही। आम आदमी पार्टी, बसपा, सपा कैंडिडेट्स भी मैदान में रहे।
कटनी: महापौर पद के लिए 12 प्रत्याशी मैदान में थे। यहां BJP की ज्योति बीना दीक्षित और कांग्रेस की श्रेहा रौनक खंडेलवाल के बीच सीधी टक्कर थी, लेकिन BJP की बागी निर्दलीय प्रत्याशी प्रीति सूरी ने उलटफेर कर दिया। आम आदमी पार्टी से शशि प्रभा तिवारी, बहुजन समाजवादी पार्टी से अंजलि, समाजवादी पार्टी से अनीता भी मैदान में थे।
देवास: BJP प्रत्याशी गीता अग्रवाल को कांग्रेस की विनोदनी व्यास और निर्दलीय प्रत्याशी मनीषा चौधरी टक्कर दे रहीं थीं। त्रिकोणीय मुकाबला माना जा रहा था। देवास में 6 उम्मीदवार महापौर पद के लिए मैदान में थे। यहां भी आम आदमी पार्टी से चाना ज्ञानेश, बीएसपी से निकिता सूर्यवंशी भी मैदान में थे।
पहले चरण में 7 महा

 

पौर सीट BJP ने जीतीं
बता दें कि पहले चरण में 11 नगर निगम में वोटिंग हुई थी। नतीजे 17 जुलाई को आ चुके हैं। भोपाल, इंदौर, खंडवा, बुरहानपुर, उज्जैन, सागर और सतना में BJP ने जीत हासिल की। कांग्रेस ने जबलपुर, ग्वालियर और छिंदवाड़ा पर कब्जा जमाया। सिंगरौली में आम आदमी पार्टी की रानी अग्रवाल महापौर चुनी गईं। बाकी बची 5 निगमों के लिए 44 कैंडिडेट्स मैदान में हैं। मुरैना में 6, रीवा में 13, कटनी में 12, देवास में 6, रतलाम में 7 प्रत्याशी चुनाव लड़े थे। 13 जुलाई को यहां वोटिंग हुई थी।