भाजपा नेतृत्व का संदेश-समन्वय के साथ सत्ता आने तक करें संघर्ष

0
173

रायपुर : छत्तीसगढ़ में भाजपा की दो दिन चली बैठक में समन्वय के मुद्दे पर केंद्रीय नेताओं ने राज्य के नेताओं को जमकर घेरा। प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में नेताओं ने कहा कि मोर्चा-प्रकोष्ठ के बीच समन्वय नजर नहीं आ रहा है। युवा मोर्चा का कोई कार्यक्रम सिर्फ युवा मोर्चा के भरोसे छोड़ दिया जा रहा है। किसान मोर्चा के आंदोलन में बड़े नेता नदारद रहते हैं। सरकार की बड़ी-बड़ी गड़बड़ी को भी संगठन पूरी तरह उठाने और भुनाने में सफल नहीं हो पा रही है। राष्ट्रीय नेताओं ने प्रदेश संगठन को टास्क दिया कि वे मुद्दे खोजें, उस पर लड़े और जरूरत पड़े तो केंद्रीय नेताओं को बुलाने में भी पीछे नहीं रहें।

भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी ने मीडिया से चर्चा में कहा कि तीनों प्रभारियों ने मोर्चा, प्रकोष्ठ और विभागों की समीक्षा की है। कोर कमेटी के साथ भी बैठक हुई है। पदाधिकारियों को कई जरूरी दिशा निर्देश दिए गए हैं। पार्टी को कैसे आगे लेकर जाए। मुद्दों के आधार पर आंदोलन करे। इन सभी विषयों पर बातचीत हुई है। मिशन 2023 में सत्ता में आने तक लड़ाई जारी रहेगी। पुरंदेश्वरी ने पूरे दम के साथ कहा कि हम सत्ता में आएंगे। केंद्र की मोदी सरकार गरीबों को ध्यान में रखकर काम करती आई है। यह हमारी सत्ता वापसी का रास्ता तय करेगी।

महंगाई के मुद्दे पर कांग्रेस प्रदेश में लगातार प्रदर्शन कर रही है। पेट्रोल के बढ़े हुए दामों की वजह से केंद्र सरकार को घेरने की सियासी कोशिश हो रही है। डी. पुरंदेश्वरी ने कहा कि पेट्रोल के दामों में राज्य जो एक्साइज ड्यूटी लगाता है, उसे क्यों कम नहीं कर देती, इससे पेट्रोल सस्ता हो जाएगा। अपने हिस्से का टैक्स कम करके कांग्रेस सरकार जनता को राहत क्यों नहीं देती। प्रदेश के किसानों को खाद नहीं मिल रही, बीज नहीं मिल रहे हैं।

इससे पूरे राज्य में किसान परेशान हैं। इस सरकार में किसानों की अनदेखी हो रही है। यही हाल रहा तो प्रदेश की सरकार के लिए किसानों को जवाब देना मुश्किल होगा। पुरंदेश्वरी ने कहा कि हम तो चाहते हैं कि मुख्यमंत्री बताएं क्यों किसानों को खाद बीज नहीं मिल रहे। अपनी असफलता का ठीकरा केंद्र सरकार पर फोड़ना ठीक नहीं। राज्य सरकार श्वेत पत्र जारी करके बताए कि कितना खाद केंध से मांगा और नहीं मिला।

फटकार के बाद युवा मोर्चा सक्रिय, प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक आज

मोर्चा-प्रकोष्ठ की बैठक में राष्ट्रीय सहसंगठन महामंत्री शिवप्रकाश ने सबसे ज्यादा फटकार युवा मोर्चा को लगाई। अब तक नियुक्ति नहीं होने के मुद्दे पर मोर्चा के नेताओं को खरी-खरी सुनाई गई। इन कमियों को पूरा करने और प्रदेश में युवाओं के आंदोलन की रणनीति बनाने के लिए युवा मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की पहली बैठक सोमवार को कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में दोपहर दो बजे से होगी। भाजयुमो के प्रदेश मीडिया प्रभारी उमेश घोरमोड़े ने बताया कि 20 जुलाई को भाजयुमो के पूर्व पदाधिकारियों के साथ बैठक होगी। इस बैठक में भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू, भाजयुमो प्रदेश प्रभारी अनुराग सिंहदेव और ओपी चौधरी शामिल होंगे।

कोर ग्रुप में बड़े आंदोलन की बनी रणनीति

भाजपा प्रदेश कोर ग्रुप में विधानसभा सत्र में आक्रामक तरीके से सरकार की गलत नीतियों को उठाने के मुद्दे पर चर्चा हुई। इसके साथ ही प्रदेश स्तर के आंदोलनों को मुद्दों के आधार पर प्लान करने के बारे में विचार-विमर्श किया गया। कोर ग्रुप में संगठन के बचे पदों पर पांच अगस्त तक नियुक्ति पूरी करने की भी बात हुई।