Local Body Election : वोट डालने के बाद लगी काली स्याही, गर्व से मुस्कुराए मतदाता

0
149

रायपुर। अपने शहर की सरकार चुनने के लिए छत्तीसगढ़ के 151 नगरीय निकायों में शनिवार को नागरिकों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सुबह आठ बजे से मतदान शुरू होना था, लेकिन मतदान की उत्सुकता बहुत से वोटरों को समय से पहले ही मतदान केंद्र तक खींच लाई थी। कतारों में लगकर अपनी पारी का इंतजार करते हुए मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया और शहरी सरकार चुनने में भागिदार बने।

कई मतदान केंद्रों में वोटर्स के लिए सेल्फी जोन बनाए गए हैं। हालांकि मतदान करने जाते वक्त मोबाइल ले जाने की पाबंदी है, लेकिन मतदान कर बाहर निकलने के बाद लोगों ने इस खास पल को अपने कैमरे में कैद किया। पांच वर्षों में एक बाद आने वाले शहरी सरकार के इस चुनाव में भागीदार बनने का उत्साह वोटर्स के चेहरे पर खुलकर नजर आया। मतदान को प्रोत्साहित करने के लिए आज राज्य में शासकीय अवकाश की घोषणा की गई है।

वोटर्स को प्रोत्साहित करने के लिए निर्वाचन आयोग ने कई पोस्टर्स भी जारी किए हैं। इन पोस्टर्स के साथ यूथ सेल्फी जोन में वोटिंग के बाद सेल्फी लेते भी नजर आए। राज्य में मौसम का पारा लगातार गिर रहा है और ठंड भी तेज हो गई है, लेकिन सर्वाधिक ठंडे उत्तरी इलाके के शहरों में भी मतदाता सुबह से मतदान के लिए उत्साहित नजर आए।

राज्य में शाम पांच बजे तक मतदान होगा। राज्य भर के 10 नगर निगम, 38 नगर पालिका और 103 नगर पंचायतों में जनप्रतिनिधियों के चुनाव के लिए मतदान हो रहे हैं। राज्य के सर्वाधिक नक्सल प्रभावित दक्षिण इलाके में भी निकायों में शांतिपूर्ण मतदान चल रहा है और वोटर्स पूरे उत्साह के साथ इसमें शामिल हो रहे हैं।

राज्य गठन के बाद पहली बार बैलेट पेपर से मतदान होने जा रहा है। आयोग ने सभी बूथ पर मतपत्र और पेटियां भेजने का काम भी पूरा कर लिया है। आयोग ने बोगस वोटिंग को रोकने के लिए कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया है। साथ ही बूथ एजेंट को भी प्रशिक्षण देकर फर्जी वोटिंग पर आपत्ति के बारे में जानकारी दी है।

इस चुनाव में 39 लाख 82 हजार 601 मतदाता मताधिकार का प्रयोग कर पाएंगे। प्रदेश में कुल पांच हजार 406 मतदान केंद्रों में मतदान हो रहा है। प्रदेश में निकायों के लिए कुल 10161 प्रत्याशी मैदान में हैं। सबसे ज्यादा 936 उम्मीदवार जांजगीर जिले में हैं, वहीं, रायपुर में 836 उम्मीदवार मैदान में है।

24 दिसंबर को मतगणना के बाद 2840 नए पार्षद चुन कर आएंगे। मतदाताओं को भी पता है कि उनके शहर के विकास के लिए उनका एक वोट कितना अमूल्य है। एक जिम्मेदार नागरिक के तौर पर वोटर्स पूरी जागरूकता के साथ अपना वोट डाल रहे हैं।