Skin fasting से आपकी त्वचा बदलेगी कुछ इस तरह

0
146

स्किन फास्टिंग शब्द शायद बहुत सी महिलाओं के लिए नया हो। हालांकि ग्लोबली यह कॉन्सेप्ट इन दिनों काफी पसंद किया जा रहा है। हर महिला चाहती है कि उसकी स्किन नेचुरली बेहद खूबसूरत नजर आए और इसके लिए महिलाएं कई तरह के ब्यूटी प्रॉडक्ट्स को भी अप्लाई करती हैं। हालांकि स्किन फास्टिंग का कान्सेप्ट इससे काफी अलग है। यह एक तरह से उपवास की तरह ही है। जिस तरह उपवास के दिन हम अन्न व नमक का त्याग कर देती हैं, ठीक उसी तरह स्किन फास्टिंग के दौरान भी आपको अपनी स्किन पर किसी भी तरह के ब्यूटी प्रॉडक्ट जैसे मॉइश्चराइजर, टोनर आदि को अप्लाई नहीं करना होता। आप सादे पानी से अपनी स्किन को साफ कर सकती हैं। आप चाहे माने या ना माने, लेकिन यह आपकी स्किन के लिए एक बेहद यूजफुल हीलिंग एक्टिविटी है।

जिस तरह आपके शरीर को डिटॉक्स की जरूरत होती है, ठीक उसी तरह आपको अपनी स्किन को भी डिटॉक्स करना चाहिए। इससे आपकी स्किन रियल में हेल्दी बनती है। अमूमन अपने शरीर को भीतर से डिटॉक्स करने के लिए हम कुछ वक्त के लिए अपने खान-पान पर प्रतिबंध लगाती हैं, ठीक ऐसे ही स्किन के डिटॉक्सिकरण के लिए उसे कभी-कभी ब्यूटी प्रॉडक्ट्स से छुट्टी दे देनी चाहिए। इसे ही आम भाषा में स्किन फास्टिंग कहा जाता है। अब आप यह सोच रही होंगी कि इससे स्किन को क्या लाभ होगा। तो चलिए आज हम आपको इस लेख में स्किन फास्टिंग और उससे होने वाले लाभों के बारे में बता रहे हैं-

रेग्युलर फास्टिंग की तरह ही स्किन फास्टिंग में आपको अपने चेहरे पर कुछ भी नहीं लगाना है। बस आप इसे पानी से क्लीन करें। हालांकि कुछ महिलाएं अपनी स्किन टाइप के अनुसार स्किन फास्टिंग को मोडिफाई करते हुए अपनी स्किन पर सनस्क्रीन लोशन या मॉइश्चराइजर अप्लाई कर सकती हैं। इस तरह स्किन फास्टिंग के दौरान आपकी स्किन किसी भी तरह की क्रीम या केमिकल से दूर होती है। साथ ही स्किन फास्टिंग के दौरान आपकी स्किन को कुछ हीलिंग टाइम मिलता है। हालांकि इसका अर्थ यह नहीं है कि आप जो स्किन केयर प्रॉडक्ट अप्लाई कर रही हैं, वह बैड हैं। लेकिन आपकी स्किन को भी कभी-कभी एक छुट्टी की जरूरत होती है जो स्किन फास्टिंग से उसे मिलता है।

अब दूसरा सवाल मन में यह उठता है कि आपकी स्किन को कितने समय के अंतराल पर डिटॉक्स होने की जरूरत पड़ती है। आप दो या तीन महीने में एक बार या हर महीने में एक बार या हर हफ्ते एक बार त्वचा डिटॉक्स पर जा सकती हैं। यह आपकी डेली स्किन केयर रूटीन पर निर्भर करता है। अगर आपको अपनी स्किन इरिटेटिड, सेंसेटिव ड्राई, ऑयली या डल लग रही है तो आप एक सप्ताह या दो सप्ताह में एक बार स्किन डिटॉक्स कर सकती हैं।

स्किन फास्टिंग उन महिलाओं के लिए विशेष रूप से लाभकारी मानी गई है, जो अपनी स्किन पर कई तरह के ब्यूटी केयर प्रॉडक्ट्स जैसे एंटी-एजिंग क्रीम, स्किन लाइटनिंग क्रीम आदि का इस्तेमाल करती हैं। स्किन फास्टिंग से आपकी स्किन को भी डेली रूटीन से एक ब्रेक मिलता है। साथ ही इसका एक लाभ यह भी है कि यह आपकी स्किन को स्ट्रेंथन करता है और स्किन के own fighting mechanism को डेवलप करने में मदद करता है।

अगर आप भी स्किन फास्टिंग ट्राई करने के बारे में सोच रही हैं तो आपको कुछ बातों का खास ध्यान रखना होगा। सबसे पहले तो आप ओवर स्किन फास्टिंग ना करें। जिस तरह सप्ताह में एक दिन उपवास आपकी बॉडी को डीप क्लींज करता है, लेकिन ओवर फास्टिंग से आप कमजोर हो जाती हैं और आपके शरीर को जरूरी पोषक तत्व नहीं मिलते। ठीक, उसी तरह स्किन फास्टिंग करना अच्छा है, लेकिन ओवर स्किन फास्टिंग से बचें।

अगर आपको किसी तरह की स्किन प्रॉब्लम है या फिर आप मेडिकेटिड प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं तो इसे शुरू करने से पहले अपने चिकित्सक से पूछें। उनकी सलाह के बाद ही कोई कदम बढ़ाएं। स्किन फास्टिंग के दौरान बहुत सारा पानी, ताजा जूस पिएं और धूप में बाहर न निकलें। अगर आपकी रूखी त्वचा है, तो आप स्किन फास्टिंग को मोडिफाई करके करें और नारियल तेल का उपयोग करें।