छत्तीसगढ़ में अब तक 6 कोरोना संक्रमित, CM भूपेश की अहम बैठक आज

0
141

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज शाम अपने निवास कार्यालय में वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक लेकर प्रदेश में कोराना वायरस (कोविड-19) की रोकथाम के लिए की गई व्यवस्थाओं और आमजनता को खाद्यान्न सहित अन्य आवश्यक वस्तुओं की सुचारू आपूर्ति के संबंध में बैठक लेकर इसकी समीक्षा करेंगे।

मुख्यमंत्री ने अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू को इस संबंध में सभी जिलों से जानकारी लेने को भी कहा है। मुख्यमंत्री की बैठक के पहले अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू प्रदेश के सभी जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से वीडियो कांफ्रेसिंग करेंगे और जिलों में कोरोना वायरस से निपटने के लिए किए गए इंतजामों और लोगों को खाद्यान्न सहित अन्य दैनिक जरूरतों के सामान की आपूर्ति हेतु की गई व्यवस्थाओं की समीक्षा करेंगे।

बता दें कि छत्तीसगढ़ में अब तक छह कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की पुष्टि हो चुकी है। इनमें से तीन रायपुर और एक भिलाई के मरीज का इलाज एम्स में चल रहा है। बिलासपुर और राजनांदगांव के पॉजिटिव मरीज को वहीं रखकर इलाज किया जा रहा है। गुरुवार को एम्स में एक और महिला को संदेह के आधार पर आइसोलेशन सेंटर में रखा गया। सूत्रों ने बताया कि महिला आठ महीने की गर्भवती है। उसका ट्रामा में इलाज चल रहा था।

लक्षण के आधार पर उसकी जांच की गई। दो चरणों की जांच मे कोरोना पॉजिटिव होने के संकेत मिले हैं। जबकि दो चरणों की जांच बाकी है। सतर्कता बरतते हुए महिला को एम्स में क्वारंटाइन किया गया है। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी शिवशंकर शर्मा ने बताया कि संदेह के आधार पर महिला का सैंपल लेकर भेजा गया है। एहतियात के लिए उसे आयुष बिल्डिंग में ही क्वारंटाइन कर रखा गया है। अभी पूरी जांच रिपोर्ट नहीं आई है।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार 54 सैंपल जांच के लिए भेजे गए। इनमें से 34 सैंपल की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। 23 सैंपल की जांच रिपोर्ट आना बाकी है। प्रदेश भर में अब तक 289 सैंपल की जांच हो चुकी है। झांझ, निमोरा और निजी होटल में बने क्वारंटाइन सेंटर में 61 लोगों को रखा गया है। स्वास्थ्य विभाग संदेही लोगों को अब तक 14 दिनों तक आइसोलेट कर रहा था। 14 दिन होने के बाद भी कुछ पॉजिटिव केस आ रहे हैं, ऐसे में आइसोलेशन का समय 28 दिनों के लिए किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने सैंपल की बढ़ती संख्या को देखते हुए जगदलपुर मेडिकल कॉलेज में भी सैंपल जांच के लिए लैब शुरू कर दी है।