खांसी, जुकाम ही नहीं माइग्रेन की समस्या से भी राहत दिलाता है अदरक

0
132

अदरक का मुख्य जिंजरोल्स रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है। डायबिटीज से हमारे शरीर के प्रमुख अंग प्रभावित होते हैं ऐसे में अदरक का रस बहुत ही फायदेमंद है।

ताजा अदरक पीसकर दर्द वाले जोड़ों और मसल्स पर लेप करने से सूजन और दर्द में आराम मिलता है। लेप अगर गर्म करके लगाया जाए तो जल्द असर होता है।

अदरक डाइजेस्टिव टॉनिक का काम करता है। लेकिन गर्मियों में इसका बहुत ज्यादा सेवन न करें क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है।

अदरक की चाय जुकाम, खांसी, कफ, सिरदर्द, कमर दर्द, पसली और छाती के दर्द को दूर करती है।

अदरक बड़ी आंत में पाए जाने वाले बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है जिससे गैस से राहत मिलती है।

अदरक में एंटी ऑक्सीडेंट पर्याप्त मात्रा में होते हैं। इसके सेवन से कैंसर के बचाव में सहायक एंजाइम एक्टिव हो जाते हैं।

अदरक त्वचा को आकर्षक व चमकदार बनाने में भी मदद करता है। सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी के साथ एक टुकड़ा अदरक का खाएं।

माइग्रेन की समस्या में एक नींबू के रस में आधा चम्मच अदरक का रस मिलाकर लेने से लाभ मिलता है।