Gwalior News : सीएम शिवराज ने अंबेडकर महाकुंभ पर दी सौगात, 61 करोड़ 33 लाख रूपए के विकास कार्यों का लोकार्पण-भूमि पूजन, छात्रों को मिलेगा लाभ

0
60

मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में रविवार को ‘बाबा साहेब अंबेडकर महाकुंभ’ का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, ज्योतिरादित्य सिंधिया, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा सहित अन्य मंत्री और भाजपा नेता शामिल हुए है। बाबा साहेब अंबेडकर महाकुंभ में मुख्यमंत्री ने बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। और CM ने बाबा साहेब की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंच से जय भीम का नारा लगाया। उन्होंने कहा, बाबा साहब के बनाए संविधान पर मोदी जी और हम सरकार चला रहे हैं। जिसने संविधान बनाया, उसे हरवाने का काम कांग्रेस ने किया। वही केंद्रीय मंत्री एवं सिंधिया की गरिमामयी उपस्थिति में अंबेडकर महाकुंभ में 61 करोड़ 43 लाख लागत के छात्रावास भवनों का लोकार्पण व भूमिपूजन किया है।

केंद्रित चित्र गैलरी और प्रदर्शनी का किया अवलोकन
मिली जानकारी के मुताबिक, आज सीएम ने सिंगल क्लिक के जरिए ग्वालियर समेत प्रदेश के विभिन्न जिलों के लगभग 61 करोड़ 43 लाख रुपए की लागत के बालक एवं बालिका छात्रावास भवनों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। ज्ञानोदय आवासीय विद्यालय एवं एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के विद्यार्थियों के लिए मित्र पोर्टल का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने अंबेडकर महाकुंभ आयोजन स्थल पर लगाई गई बाबा साहब के जीवन पर केंद्रित चित्र गैलरी और प्रदर्शनी का अवलोकन किया। संतों के सम्मान और कन्या पूजन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

कार्यक्रम में सिंधिया ने कहा कि, क्रांति, बलिदान और न्याय की माटी ग्वालियर-चंबल संभाग की भूमि पर आज यह महाकुंभ हो रहा है। भारत को लोकतंत्र की जननी कहा जाता है, इसका श्रेय भी बाबा साहेब अंबेडकर को जाता है। बाबा साहेब अंबेडकर पूरे विश्व के पथ प्रदर्शक बन चुके हैं। देश में कई नेता है जो चुनाव के समय बाबा साहेब को याद करते हैं, दलितों का मसीहा बनते हैं। उन नेताओं से पूछना चाहता हूँ उन्होंने 75 वर्षों तक दलितों के लिए क्या किया? बाबा साहेब को 75 वर्षों तक सम्मान का इंतजार करना पड़ा।

बाबा साहेब अंबेडकर महाकुंभ” में प्रदेश के मंत्री लाल सिंह आर्य ने कहा कि, दशकों तक देश व मप्र में कांग्रेस की सरकार रहीं लेकिन कभी ग्वालियर-चंबल की धरती पर अंबेडकर महाकुंभ नहीं हुआ। बाबा साहेब अंबेडकर और संत रविदास को सम्मान देने का काम सीएम के नेतृत्व में भाजपा सरकार कर रही है। वही कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस ने सदैव बाबा साहेब के सपनों का अपमान किया। इंदिरा गांधी ने अपनी सरकार बचाने के लिए बाबा साहेब के संविधान को कुचलकर देश में आपातकाल लगाया। कांग्रेस ने दलितों के अधिकारों को खत्म करने का काम किया।