कोरोना वायरस: 24 घंटे में हुई 4 सैंपल की जांच, खौफ के चलते चार गुना अधिक दाम में बिकने लगे मास्क

0
176

रायपुर. राजधानी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में 24 घंटे में 4 लोगों के कोरोना वायरस की सैंपल जांच हुई हैं, जिसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। गुरुवार देर रात दंतेवाड़ा के एक संदिग्ध का सैंपल जांच के लिए आया था। वहीं, शुक्रवार को हेल्थ डायरेक्टर नीरज बंसोड़ के निर्देश पर इटली व स्पेन की यात्रा से लौटे इंडियन रेवन्यू सर्विसेस के तीन अधिकारी जांच के लिए पहुंचे थे। तीनों अधिकारियों की स्क्रीनिंग के बाद सैंपल लिया गया था। दुर्ग और राजनांदगांव से एक-एक संदिग्ध मिले हैं, जिनका सैंपल एम्स भेजने की तैयारी की जा रही है। बता दें कि गुरुवार से एम्स में कोरोना वायरस के सैंपल की जांच शुरू हुई है।

चार गुना अधिक दाम में बिकने लगे मास्क

चिकित्सक लोगों से कह रहे हैं कि इससे डरने की जरुरत नहीं है लोगों को मास्क लगाने की सलाह दी जा रही है जिसका सबसे ज्यादा फायदा शहर के मेडिकल दुकान वाले उठा रहे हैं। फेस मास्क की कीमत ४ से ६ गुना तक बढ़ गई है। कोरोना से बचाव के लिए उपयुक्त माना जाने वाला मास्क थ्री लेयर वाली मानी जाती है जिसकी कीमत खुदरा बाजार में 450 रुपए तक पहुंच चुकी है जबकि यह मास्क 10 दिन पहले तक 108 रुपए बाजार में बेची जा रही थी।

सर्जिकल कारोबार से जुड़े लोग पिछले 10 दिनों से मास्क का हल्ला मचाना शुरू कर दिया जिसके कारण मास्क की कीमत बढ़ गई है। वहीं कई दुकानदारों के द्वारा मास्क की कीमत बढ़ाने के लिए मास्क को एक दो दिन रोककर बेचा जाता है। बताया जाता है मास्क की कीमत तेलीपारा मेडिकल काम्प्लेस में भी थोक विक्रेता कीमत बढ़ाकर बेच रहे हैं। इसकी शिकायत सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन से की गई है। इसके बावजूद उन्होंने अब तक इसकी जांच नहीं कराई है।

कीमत बढ़ाने का बहाना

मेडिकल काम्पलेक्स के एक दुकानदार सस्ता मास्क किसी भी वायरस से सुरक्षा नहीं दे सकता। इसके लिए थ्री लेयर वाला मास्क जरूरी है। यह प्रदूषण से बचाता है। आमतौर पर अस्पतालों में चिकित्सक, नर्स, कंपाउंडर अन्य कर्मचारियों सहित मरीजों को दिया जाता है वह बहुत ही हल्का या सस्ता हो जाता है।

वहीं डॉक्टर इसे मेडिकल दुकान वालों की कमाई बढ़ाने का जरिया बता रहे हैं। सेनीटाइजर की मांग बढ़ीसिम्स के सामने एक मेडिकल दुकानदार का कहना है कि युवाओं द्वारा सेनीटाइजर की मांग ज्यादा की जा रही है। जिसका फायदा उठाते हुए कुछ मेडिकल वाले कीमत को बढ़ा दिए हैं। लेकिन दो तीन गुना अधिक कीमत की जानकारी नहीं है।