कन्नौज : औचक निरीक्षण में डीएम को गायब मिले जिला अस्पताल के आधा दर्जन डॉक्टर, वेतन रोकने के निर्देश

0
151

कन्नौज। दवा वितरण की कार्यवाही नियमित रूप से सुनिश्चित करते हुए प्रतिदिन का विवरण सुरक्षित रखा जाए | दवा किसी भी दशा में बाहर से न लिखी जाए | दवाईयों की मांग पूर्व में ही सुनिश्चित की जाये | साफ़ सफाई की कार्यवाही दिन में समय निर्धारित करते हुए तीन बार की जाये|

यह निर्देश आज जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण करते हुए सम्बंधित चिकित्सकों को दिए | उन्होंने सेवा निवृत्त सीएमएस तथा संविदा पर तैनात डॉ रघुवीर सिंह, आर्थोपेडिक विशेषज्ञ की ओपीडी का निरीक्षण किया, जिसमें ओपीडी पंजिका में सम्बंधित चिकित्सक द्वारा मरीजों के विवरण अंकन की कार्यवाही न किये जाने, दिनांक वार उल्लेख तथा फार्मासिस्ट द्वारा अंकन की कार्यवाही एवं चिकित्सक श्री सिंह के ड्रेस कोड में न होने एवं हड्डी से सम्बंधित उपकरण खराब पाए जाने की दशा में सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही किये जाने हेतु निर्देश दिए | उन्होंने मरीजों के पंजीकरण कक्ष का निरीक्षण किया जिसमें बताया गया कि आज 354 मरीजों ने पंजीकरण कराया है | उन्होंने उपस्थित पंजिका का अवलोकन भी किया जिसमें अनुपस्थित चिकित्सक डॉ योगेन्द्र, डॉ मोनिका लाल, डॉ अनुभव, डॉ मनप्रीत, डॉ अमिता सहित कुल छः चिकित्सकों के वेतन रोके जाने तथा उनके खिलाफ कार्यवाही किये जानेके निर्देश दिए |

कुमार ने कहा कि चिकित्सक नियमित रूप से उपस्थित होकर अपने अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन सुनिश्चित करें | उन्होंने दवा वितरण कक्ष का निरीक्षण करते हुए अभिलेखों को देखा जिसमें दिनांक वार दवा वितरण की कार्यवाही न पाए जाने साथ ही किस दिन कितनी दवा मरीजों में वितरित की गयी, से सम्बंधित पंजिका प्राप्त न होने की दशा में नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि दवा वितरण से सम्बंधित दिनांक वार पंजिका तैयार की जाये और साथ ही मरीजों को बाहर की दवा न लिखी जाए बल्कि दवा समाप्त होने से पूर्व ही दवाईयों की उपलब्धता हेतु मांग सुनिश्चित की जाये | उन्होंने मरीज महेश शर्मा द्वारा जांच एवं दावा न मिलने की शिकायत पर पर्चे को देखते हुए खांसी की दवा से सम्बंधित सीरप बाहर से लिखे जाने पर दवा की सूची के अनुसार मरीजों को दवा उपलब्द्ध कराने के निर्देश दिए |जिलाधिकारी ने एन आर सी यू वार्ड, आयुष ओपीडी, ओर्थोपेडिक रोग वार्ड, नर्स ड्यूटी कक्ष, ईएनटी ओपीडी आदि के अतिरिक्त होम्योपैथिक एवं आयुर्वेदिक वार्ड एवं महिला चिकित्सालय का भी निरीक्षण करते हुए आवश्यक निर्देश दिए | उन्होंने अस्पताल के अन्दर व् बाहर साफ सफाई हेतु निर्देशित करते हुए कहा कि गंदगी से बीमारियाँ फैलती हैं, अस्पताल में मरीज स्वस्थ्य होने की भावना से उपचार हेतु आता है अतः गंदगी की साफ़ सफाई नियमित रूप से दिन में तीन बार की जाए।निरीक्षण के दौरान डॉ रवीन्द्र साहू सहित अन्य चिकित्सक मौजूद थे |