सूरजपुर जिला पंचायत में कांग्रेस को बहुमत लेकिन उलटफेर का भी डर

0
138

अंबिकापुर । जिला पंचायत सूरजपुर की तस्वीर साफ है। 15 सदस्यों वाले जिला पंचायत सूरजपुर में कांग्रेस समर्थित नौ और भाजपा समर्थित छह सदस्य निर्वाचित हुए हैं। कांग्रेस के पास बहुमत होने के बावजूद अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का चुनाव रोचक होने का अनुमान है। दोनों दल अपने-अपने नवनिर्वाचित सदस्यों को एकजुट रखने के प्रयास में लग गए हैं। जिला गठन के बाद पहली बार हुए चुनाव में यहां कांग्रेस समर्थित अशोक जगते अध्यक्ष तो भाजपा के गिरीश गुप्ता उपाध्यक्ष निर्वाचित हुए थे। इस बार भी बहुमत के बावजूद सर्वमान्य प्रत्याशी चयन में चूक हुई तो भाजपा सेंध लगाने तैयार बैठी है।

यहां अध्यक्ष पद के लिए पूर्व मंत्री तुलेश्वर सिंह की पुत्री शशि सिंह व सरगुजा विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष खेलसाय सिंह की बहू उषा सिंह का नाम प्रमुख है। उपाध्यक्ष पद को लेकर कई दावेदार सामने आए है।

बहुमत नहीं फिर भी भाजपा का उपाध्यक्ष

सूरजपुर नगर पालिका के चुनाव में देखा गया था कि बहुमत से काफी दूर होने के बावजूद भाजपा पार्षद को उपाध्यक्ष की जवाबदारी मिल गई थी वैसी स्थिति जिला पंचायत में न हो इसे लेकर कांग्रेसी नेता अभी से ही सक्रिय हो गए हैं।

उलटफेर की संभावना से इनकार नहीं

भाजपा की ओर से पूर्व गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के पुत्र लवकेश पैकरा, भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष स्व.शिवप्रताप सिंह के पुत्र व अविभाजित सरगुजा जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष विजय प्रताप सिंह भी सदस्य का चुनाव जीतकर आए हैं। ये भी अपने पक्ष में माहौल बनाने जी जान से जुटे है। यहां उलटफेर की संभावना से इनकार नही किया जा सकता।