मध्‍य प्रदेश में कोरोना योद्धा योजना पुन: प्रारंभ, स्वजन को मिलेगी 50 लाख की सम्मान निधि

0
105

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना जैसे विकट संकट में जान हथेली पर रखकर प्रदेश के स्वास्थ्यकर्मी दिन-रात जनता की सेवा कर रहे हैं। डॉक्टर सचमुच में भगवान होते हैं। वे मरीजों की जान बचाते हैं। यही कारण है कि मध्य प्रदेश में लगभग 99 फीसद कोरोना मरीज स्वस्थ हो रहे हैं। कोरोना मृत्यु दर एक प्रतिशत से थोड़ी ज्यादा है। समाज पर आपका यह ऋण कोई नहीं भूलेगा। आप कोरोना के संक्रमण से स्वयं को बचाते हुए दूसरों को संक्रमण मुक्त करने का कार्य ऐसे ही करते रहें। मुख्यमंत्री गुरुवार को अपने निवास से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के सभी स्वास्थ्यकर्मियों को संबोधित कर रह थे।

चौहान ने कहा कि हमने कोरोना योद्धा योजना पुन: प्रारंभ कर दी है। कार्य करते-करते हमारे जो स्वास्थ्यकर्मी दिवंगत हो जाएंगे, उनके परिवार की देखरेख शासन की जिम्मेदारी होगी। उनके परिवारों को सरकार की ओर से 50 लाख रुपये की सम्मान निधि दी जाएगी। वीडियो कांफ्रेंस में स्वास्थ्य आयुक्त आकाश त्रिपाठी, प्रदेश के सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाफ, सफाईकर्मी, एएनएम, आशा कार्यकर्ता आदि उपस्थित थे।

पिछले एक सप्ताह से स्थिति बेहतर हुई

मुख्यमंत्री ने ऐसे सभी स्वास्थ्य कर्मियों, जो कोरोना के दौरान सेवा करते-करते दिवंगत हो गए हैं, उनको प्रदेश की आठ करोड़ जनता की ओर से आदरांजली अर्पित की। चौहान ने कहा कि उनकी सेवाएं अमूल्य हैं, अगर वे न होते तो लोगों का क्या होता? चौहान ने कहा कि आप सभी के अथक परिश्रम के परिणामस्वरूप पिछले एक सप्ताह में प्रदेश में कोरोना संक्रमण स्थिति बेहतर हुई है। प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 25 प्रतिशत से घटकर 21.5 फीसद रह गया है, वहीं स्वस्थ होने वालों की संख्या निरंतर बढ़ रही है। प्रदेश में 94 हजार से ज्यादा सक्रिय मरीज हो गए थे, अब 92 हजार रह गए हैं, इनमें से 70 हार होम आइसोलेशन में हैं।