सीएम शिवराज बोले, ब्लैक फंगस की जांच और इलाज में नेतृत्व करे इंदौर

0
268

इंदौर । सीएम शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए इंदौर पहुंचे है। वे एयरपोर्ट से सीधे कलेक्टर कार्यालय पहुंचे, जहां आपदा प्रबंधन समूह में शामिल जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ वे बैठक ले रहे है। सीएम ने बैठक में कहा कि कोरोना की दवाइयों के भी साइड इफेक्ट होते ही हैं। ब्लैक फंगस की जांच बहुत आसान होती है, इसमें नेचर इंडोस्कोपी होती है। छोटा सा उपकरण आता है, इसकी व्यवस्था शासकीय और निजी दोनों अस्पतालों में हो सकती है। ब्लैक फंगस की जांच और इलाज में भी इंदौर को नेतृत्व करना चाहिए।

सीएम शिवराज इंदौर संभाग के विकासखंड और ग्राम स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करेंगे। उन्होंने इंदौर आने से पहले ही अधिकारियों को और जनप्रतिनिधियों से ट्वीट कर अनुरोध किया था कि वे एयरपोर्ट पर न आएं, हम लोग निर्धारित बैठकों में मिलकर चर्चा करेंगे। उन्होंने अधिकारियों के लिए यह भी लिखा कि आप प्रोटोकाल को लेकर न उलझें। इस समय संक्रमण को रोकना हम सबके लिए सबसे महत्वपूर्ण है। अत: कोविड प्रोटोकाल का पालन करें।

कलेक्टर कार्यालय में प्रवेश से पहले सीएम ने कराई जांच

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर के कलेक्टर कार्यालय में प्रवेश से पहले कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए गेट पर ही थर्मल स्क्रीनिंग और आक्सीमीटर से आक्सीजन सैचुरेशन चेक करवाया।