मध्य क्षेत्र विकास परिषद की बैठक से पहले CM भूपेश ने CAA पर बढ़ाया सस्पेंस, दिय़ा ऐसा जवाब

0
132

रायपुर। मध्य क्षेत्र विकास परिषद की महत्वपूर्ण बैठक केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में राजधानी रायपुर में चल रही है। इस बैठक में शामिल होने आए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बैठक से पूर्व एक कार्यक्रम में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि राज्यों के बीच कई ऐसे मुद्दे होते हैं, जो टकराव का कारण बन सकते हैं। यह राज्यों के लिए भी अच्छा नहीं है और देश के लिए भी। इस लिहाज से समन्वय की यह बैठक काफी महत्वपूर्ण है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मीडिया से बातचीत करते हुए दो टूक कहा है कि केंद्र सरकार जिस कोआपरेटिव फेडरलिज्म की बात करती है, इसका उदाहरण आज हम सब इस बैठक में देखेंगे। कोआपरेटिव फेडरलिज्म के बगैर देश चल नहीं सकता।

देश की सबसे बड़ी आवश्यकता है कि केंद्र और राज्य के बीच समन्वय बना रहे। कमलनाथ ने कहा कि बहुत सारे ऐसे मुद्दे होते हैं, जो केंद्र और राज्य के बीच टकराव का कारण बनते हैं। इससे देश को न केवल हानि होती है, बल्कि इससे देश ठीक ढंग से चल नहीं सकता।

मध्यप्रदेश सरकार की ओर से श्रीलंका में सीता मंदिर बनाए जाने के प्रस्ताव पर कमलनाथ ने कहा कि यह हमारा प्रस्ताव है कि हम वहां सीता जी का भव्य मंदिर बनवाएं। कल ही हमने इस विषय पर चर्चा की है। इस पर जल्द काम शुरू हो सके, इसकी हम कोशिश कर रहे हैं।

सेंट्रल जोन काउंसिल की महत्वपूर्ण बैठक में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री टीएस रावत और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शामिल हो रहे हैं। बैठक के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सीएए पर चर्चा को लेकर यह कहकर सस्पेंस बढ़ा दिया कि देखिये क्या होता है।

उन्होंने कहा कि देखिये क्या होता है, बैठक में चर्चा हो भी सकती है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बैठक को बेहद अहम बताते हुए कहा कि चार राज्यों के मुख्यमंत्री इस बैठक में शामिल होंगे, जिसमें कई महत्वपूर्ण बिंदु शामिल होंगे।