Chhattisgarh : कांग्रेस के युवराज समझ नहीं पा रहे जनेऊ के नजदीक जाएं या जेएनयू के

0
109

रायपुर। भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल ने कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस के युवराज समझ नहीं पा रहे कि वह जनेऊ के नजदीक जाए या जेएनयू के। उन्हें कोई कहता है कि राजनीति करना है हिंदुओं को साधना है, तो जनेऊ पहन लेते है। फिर कभी भाजपा का विरोध करना है तो जेएनयू में वामपंथियों के साथ खड़े हो जाते है। वे अपनी विचारधारा तय नहीं कर पाए है।

बृजमोहन ने कहा कांग्रेस पार्टी देश को आजाद कराने में अहम भूमिका अदा करने वाली पार्टी है। आज इस पार्टी को वामपंथी चला रहे हैं, यह दुर्भाग्यजनक है। राष्ट्रहित को ताक में रखकर कांग्रेस राजनीति करती है। उनमें सत्ता की भूख ऐसी है कि देश को आग में झोंकने में भी संकोच नहीं करते।

पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान में धर्म के आधार पर सताए हिंदू, बौद्ध, सिक्ख, ईसाई, जैन,पारसी धर्म के अनुयायियों को भारत की नागरिकता प्रदान करने के लिए बने नागरिकता संशोधन कानून पर वे ऐसी ही भूमिका अदा कर रहे है। जबकि लोकतंत्र के मंदिर राज्यसभा और लोकसभा दोनों जगहों से पास होकर यह अधिनियम बना है। उसे लेकर वे योजनाबद्ध ढंग से यह अफवाह उड़ा रहे हैं कि यह कानून मुसलमानों को देश से बाहर कर देगा।

प्रदेश कांग्रेस महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि संविधान की मूल भावना का गला घोंटने के कृत्य को राष्ट्रीय हित का नाम देने का प्रयास कर रहे हैं बृजमोहन अग्रवाल। देश के इतिहास में यह पहला अवसर है, जब पहले दोनों सदनों में कानून पास किया गया, फिर मिस्ड कॉल से स्वीकार्यता और सहमति जांची जा रही है। संख्या बल के अहंकार में मोदी सरकार संविधान की मूल भावना के विपरीत, संविधान की प्रस्तावना में निहित पंतनिरपेक्षता के विपरीत काम कर रही है।