महिला टीआई को थाने में दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता समेदा दो पर केस

0
140

रायपुर। आरटीआई कार्यकर्ता और कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय में कबीर शोध पीठ के अध्यक्ष कुणाल शुक्ला और भाजपा प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास के खिलाफ डीडीनगर थाना पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। दोनों पर डीडीनगर थाना प्रभारी मंजूलता राठौर पर एक वारंटी को छुड़ाने के लिए दबाव बनाने और धमकी देने का आरोप है। टीआई मंजूलता राठौर ने बताया कि छह फरवरी को कोर्ट द्वारा जारी स्थायी गिरफ्तारी वांरट तामील करने के लिए हेड कांस्टेबल बलराम साहू को स्टाफ के साथ रवाना किया गया था। वारंटी रितेश ठाकुर और साकेत विहार निवासी जगदीश प्रसाद अग्रवाल (52) को गिरफ्तार कर पौने नौ बजे थाना लाया गया। रात 9.30 बजे कुणाल शुक्ला और गौरीशंकर श्रीवास आ धमके।

कुणाल अपने आपको आरटीआई एक्विस्ट होना बताकर मेरे कक्ष में घुसकर तेज आवाज में वारंटी रितेश ठाकुर को छोड़ने का दबाव बनाने लगे। मैंने कोर्ट से जारी स्थायी गिरफ्तारी वारंट होने और दूसरे दिन वारंटी को कोर्ट में पेश करने की जानकारी दी तो दोनों ने चेंबर के टेबल को ठोककर यह धमकी दी कि आप वारंटी रितेश को छोड़ दीजिए, नहीं तो आपको नौकरी से हटवा कर, आपकी नौकरी खा जाएंगे। आपका नुकसान कर विभाग में आपकी छवि खराब कर देंगे। हम क्या करेंगे, आप जानती नहीं हैं। थाना प्रभारी ने घटना की शिकायत एसएसपी आरिफ शेख से की। एसएसपी के आदेश पर एफआइआर दर्ज की गई।

दो दिन बाद एफआईआर पर उठाए सवाल

दो दिन बाद एफआईआर दर्ज करने पर कुणाल ने सवाल उठाते हुए वीडियो फुटेज दिखाने को कहा है। उनका कहना है पूर्व में भी मेरे खिलाफ इस तरह का फर्जी केस दर्ज किया गया है। गौरीशंकर ने कहा कि पुलिस के टारगेट में पहले से रहा हूं। मेरे खिलाफ पूर्व में भी दो बार एफआईआर दर्ज कर फर्जी केस बनाया गया है। इसका सामना कोर्ट में किया जाएगा।